February 6, 2023

मौत के मुंह से ऋषभ को बचाने वाले हरियाणा के ड्राइवर-कंडक्टर को मिला इनाम, बताया कैसे बचाई खिलाड़ी की जान

wp-header-logo-488.png

भारत के विस्फोटक बल्लेबाज ऋषभ पंत की कार (Rishabh Pant’s car) का एक्सीडेंट हो गया और सभी भारतीयों का दिल पसीज गया। ऋषभ का हादसा नींद में कार चलाने की वजह से हुआ। घने कोहरे और नींद की वजह से ऋषभ की कार डिवाइडर से टकराई, कई मीटर चली, इसी बीच कार में आग लग गई, ऋषभ बाल-बाल बच गए। वह कार का सामने का शीशा तोड़कर भागने में सफल रहा। लेकिन वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उनके चेहरे, हाथ, पैर, घुटने और पीठ पर गंभीर चोटें आई हैं। डॉक्टर उसका इलाज कर सकते हैं। इस बीच दुर्घटनास्थल पर एक बस ड्राइवर और कंडक्टर (driver and conductor) समय पर पहुंच कर ऋषभ की जान बचाई। वह एंबुलेंस (ambulance) में ऋषभ को अस्पताल ले गए।
हरियाणा सरकार भी करेगी सम्मानित
दोनों को ड्राइवर और कंडक्टर के रूप में उनके सराहनीय कार्य के लिए सम्मानित किया गया है। पानीपत डिपो से सुशील कुमार और परमजीत (Sushil Kumar and Paramjit) ने पुरस्कार प्राप्त किया। हरियाणा सरकार ने भी ऐलान किया है कि दोनों को सम्मानित किया जाएगा। हरियाणा सरकार (Haryana government) ने कहा कि ड्राइवर-कंडक्टर ने हादसे की गंभीरता को समझते हुए और सहानुभूति दिखाते हुए ऋषभ की मदद की, मानवता के लिए उनका काम सराहनीय है, उन्हें सम्मानित किया जाना चाहिए।
Exemplary conduct and presence of mind by Haryana Roadways Driver Sushil and Conductor Paramjeet from Panipat Depot, who were the first at @RishabhPant17 accident site and helped him.

Well done ?? #RishabhPantAccident @cmohry @mlkhattar @moolchandbjphry @DiprHaryana

दोनों ने बताया पूरा मामला
“5-7 सेकंड के भीतर जब हमने ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को बाहर निकाला, कार में आग लग गई और वह खाक हो गई। उसकी पीठ पर कई घाव थे। हमने उससे पूछा कि तुम्हारा नाम क्या है? उन्होंने हमें बताया कि मैं भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत हूं। हमने तुरंत अस्पताल से संपर्क किया और एम्बुलेंस की व्यवस्था की और ऋषभ को अस्पताल में भर्ती कराया। वाहक परमजीत (Paramjeet) ने यह भी आशंका व्यक्त की कि यदि ऋषभ 5-7 सेकंड की देरी करता, तो कुछ अनहोनी हो सकती थी।
बीसीसीआई ने कहा
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के एक बयान के अनुसार, पंत की हालत (Pant’s condition) स्थिर है लेकिन उनके माथे पर दो कट लगे हैं, उनके दाहिने घुटने में लिगामेंट फट गया है और उनकी दाहिनी कलाई, टखने और पैर की अंगुली में चोटें आई हैं। पीठ पर चोट का निशान है। पंत को मैक्स अस्पताल देहरादून रेफर कर दिया गया। बीसीसीआई लगातार पंत के परिवार के संपर्क में है जबकि मेडिकल टीम पंत का इलाज कर रहे डॉक्टरों के संपर्क में है। ऋषभ पंत की चोट (Rishabh Pant’s injury) भारतीय क्रिकेट के लिए एक बड़ा झटका है क्योंकि पंत देश के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ टेस्ट विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में उभर रहे हैं। वह पहले भी ऐसी कई पारियों को अंजाम दे चुके हैं जो धोनी अपने पूरे टेस्ट करियर में कभी नहीं दे सके। हालांकि पंत सफेद गेंद के क्रिकेट में भारत के सर्वश्रेष्ठ कीपर बल्लेबाज धोनी के करीब भी नहीं हैं।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author