August 8, 2022

कृपया ध्यान दें! 1 अगस्त से इस बैंक के बदल जाएंगे जरूरी नियम, जान लीजिए वरना हो सकता है नुकसान

wp-header-logo-639.png

BOB New Rules from 1 Aug:अगस्त महीने के शुरु होने के साथ ही कई बदलाव देखने को मिलेंगे। इनमें में कई ऐसे बदलाव भी हैं, जिनका असर सीधे तौर पर आपकी जेब पर भी पड़ेगा। अगर आप बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) के ग्राहक हैं तो आपके लिए यह बेहद ही जरुरी खबर है।बैंक ऑफ बड़ौदा अगस्त महीने के शुरुआत होने के साथ ही ग्राहकों के लिए चेक लेनदेन के नियमों (BOB Cheque Rules) में बदलाव करने जा रहा है। इन बदलावों को जानना आपके लिए जरूर हैं।
देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंकों में से एक बैंक ऑफ बड़ौदा 1 अगस्त से भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) के नए निर्देशों का पालन करते हुए लेनदेन के नियमों में बदलाव करने जा रहा है। बैंक कल से अपने ग्राहकों के लिए पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन (positive pay confirmation) का नियम लागू करेगा। इस नियम के तहत बैंक ऑफ बड़ौदा के ग्राहकों को 5 लाख या उससे अधिक के चेक भुगतान से पहले ऑथेंटिकेशन के लिए बैंक से डिजिटली क्रॉस वेरीफाई करना होगा। अगर बैंक की ओर से वेरीफिकेशन नहीं होने पर पेमेंट नहीं हो पाएगी।
बैंक की ओर से जारी सूचना
ग्राहकों को पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन की जानकारी देने के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा की ओर से अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया। ट्वीट में कहा गया कि ‘हम आपकी बैंकिंग सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध हैं। पॉजिटिव पे सिस्टम के जरिए हम आपको चेक फ्रॉड से सुरक्षित रखना चाहते हैं। 5 लाख रुपये से अधिक के चेक पर आपको इसे डिजिटल कंफर्म करना होगा ताकि आप किसी फ्रॉड के शिकार न हो जाए।’
Committed to ensure the security of your banking. With Positive Pay System, we are here to protect you from cheque frauds. Cheques of Rs. 5 lakh & above are confirmed before payment. So simply #BankSafe with #BankofBaroda#AzadiKaAmritMahotsav @AmritMahotsav pic.twitter.com/xPzDwjy8Jp
बैंक से क्रॉस वेरिफिकेशन करने का तरीका

पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन करने के लिए ग्राहकों को 5 लाख से अधिक के चेक की SMS, इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम या मोबाइल बैंकिंग के जरिए चेक की डेट, बेनेफिशियरी का नाम, अकाउंट नंबर, कुल अमाउंट, ट्रांजेक्शन कोड और चेक नंबर की जानकारी बैंक को देनी होगी, बैंक चेक को क्लियरेंस करने से पहले क्रॉस वेरीफिकेशन करेगा। सभी डिटेल्स सही होन के बाद चेक का पेमेंट ग्राहक को मिल जाएगा। लेकिन क्रॉस वेरीफिकेशन के दौरान कोई भी जानकारी गलत होने पर बैंक चेक को क्लियर नही करेगा और ग्राहक को पेमेंट नही हो पाएगी। आरबीआई की ओर से चेक से संबंधित फ्रॉड को रोकने के पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन का नियम लाया गया है, इस नियम को अब सभी बैंक लागू कर रहे हैं।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author