July 5, 2022

French Open 2022: 'काश! मैं लड़का होती…', हार पर झलका चीनी टेनिस खिलाड़ी Zheng का दर्द

wp-header-logo-543.png

French Open 2022: ‘काश! मैं लड़का होती…’, हार पर झलका चीनी टेनिस खिलाड़ी Zheng का दर्द
खेल। चीन (China) की युवा टेनिस खिलाड़ी (Tennis Player) इस समय झेंग किनवेन (Zheng Qinwen) सुर्खियों मे हैं। दरअसल 19 साल की झेंग जो अपना पहला फ्रेंच ओपन (French Open 2022) खेल रही थीं वो चौथे दोर में दुनिया की नंबर वन महिला खिलाड़ी इगा स्विटेक (Iga Swiatek) से हार गई। वहीं हार के बाद झेंग का दर्द छलक पड़ा और वो कह पड़ी कि काश! वो लड़का होती, बस फिर क्या इसी के बाद से सुर्खियों में आ गई।
झेंग की शुरुआत अच्छी
युवा टेनिस खिलाड़ी झेंग ने अपनी हार के बाद कहा कि, काश मैं लड़का होती तो पीरीयड्स का सामना नहीं करना पड़ता। झेंग पहली बार रोलैंड गैरोस में खेल रही थीं और टॉप सीड स्विटेक के खिलाफ इस मुकाबले में शानदार शुरुआत की। मुकाबले का पहला सेट वो जीत गई थीं, लेकिन अगने दो सेटों में उन्हें निराशा हाथ लगी। इससे उनका दुनिया की नंबर वन खिलाड़ी को हराने का सपना पूरा नहीं हो सका।
पेट दर्द के कारण खेल हुआ प्रभावित
उन्होंने पहला सेट 6-7 के करीबी अंतर से जीतना लेकिन बाद में दूसरे सेट में 6-0 और तीसरे सेट में 6-2 के अंतर से हार का सामना करना पड़ा। इस हार से झेंग का फ्रेंच ओपन में सफर खत्म हो गया, वहीं उनका हार की असली वजह पेट में दर्द होना था। पीरीयड्स का पहला दिन होने के वाबजूद झेंग ने बेहतरीन शुरुआत की लेकिन पेट में दर्द के कारण उनका खेल प्रभावित हो गया और वो हार गईं।
पीरीयड्स के कारण झेलनी पड़ी हार
मुकाबले के बाद झेंग ने अपनी हार का कारण पीरीयड्स को बताया। इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं अपनी चोट से ज्यादा पीरीयड्स को लेकर परेशान थी। मुकाबले से पहले मुझे ये समस्या शुरु हुई और मेरा पेट दर्द शुरू हो गया। पीरीयड्स का पहला दिन मेरे लिए काफी कठिन होता है, मैं प्रकृति के खिलाफ तो नहीं जा सकती लेकिन काश मैं एक लड़का होती तो मुझे ये हार नहीं झेलनी पड़ती।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source