June 29, 2022

Budget 2022-23: क्या है Economic Survey? क्यों बजट से पहले किया जाता है इसे पेश, जानिए…

wp-header-logo-657.png

देश में 1 फरवरी 2022 को आम बजट (Aam Budget) को पेश किया जाएगा। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Union Finance Minister Nirmala Sitharaman) साल 2022-23 का बजट (Budget) पेश करेंगी। इससे पहले यानी बजट पेश करने से एक दिन पहले आमतौर पर संसद में आर्थिक सर्वे (Economic Survey) पेश किया जाता है। इस बार संसद में आर्थिक सर्वेक्षण को बजट से ठीक एक दिन पहले यानी 31 जनवरी, 2022 के दिन पेश किया जाएगा। ये एक खास और महत्पूर्ण सर्वे माना जाता है। देश की आर्थिक स्थिति (Financial Health of Economy) का लेखा जोखा होता है यानी अगले वित्त वर्ष (Financial Year) के खर्चों का इसमें अनुमान लिखा होता है। आइए आपको आर्थिक सर्वेक्षण यानी इकॉनमी सर्वे क्या होता है? ये क्यों इतना जरूरी है? साथ ही सबसे पहले आर्थिक सर्वे कब पेश हुआ था ये सब कुछ आपको विस्तार से बताते हैं
आर्थिक सर्वेक्षण क्या है? (what is an economic survey)
हर वर्ष फरवरी के पहले दिन यानी 1 तारीख को देश का बजट (Budget 2022) पेश किया जाता है। इस से ठीक एक दिन पहले आर्थिक सर्वे सामने रखा जाता है। इसे ही आर्थिक सर्वेक्षण भी कहते हैं। वहीं, पिछले साल आर्थिक सर्वेक्षण को 29 जनवरी के दिन पेश किया गया था। आर्थिक सर्वे को देश की आर्थिक स्वास्थ्य का लेखा-जोखो कहा जाता है। सरल भाषा में कहें तो आर्थिक सर्वे के जरिए देश की अर्थव्यवस्था का हाल जाना जा सकता है। इस सर्वे में पूरे साल कहां-कहां क्या विकास हुआ, क्या ट्रेंड चल रहा है, अलग-अलग प्लानों का कैसे लागू किया गया, कहां और कितनी पूंजी का इस्तेमाल किया गया आदि जानकारियां शामिल होती है।
आर्थिक सर्वे क्यों इतना जरूरी?
बजट का मुख्य आधार आर्थिक सर्वे होता है। जरूरी नहीं है कि इसकी सिफारिशें सरकार की ओर से ही लागू की जाएं। आर्थिक सर्वे में प्रमुख आर्थिक आंकड़े, सरकारी नीतियों और क्षेत्रवार आर्थिक रूझानों से जुड़ी जानकारियां विस्तार से बतानी होती है। इस सर्वे को दो भागों में पेश किया जाता है। पहला- अर्थव्यवस्था के हालतों का वर्णन होता है तो दूसरे में प्रमुख आंकड़ों के बारे में बात की जाती है। इस दस्तावेज को आर्थिक प्रभागों के मुख्य आर्थिक सलाहकार के मार्गदर्शन में तैयार किया जाता है। इसके बाद वित्त मंत्री द्वारा तैयार हो गए दस्तावेजों को लेकर अनुमोदित दी जाती है।
कब हुआ पहला आर्थिक सर्वे पेश?
देश में सबसे पहले साल 1950-51 का आर्थिक सर्वे पेश किया गया था। इसके बाद से हर साल बजट पेश करने से एक दिन पहले आर्थिक सर्वे को पेश किया जाने लगा है। वहीं, बीते कुछ सालों से आर्थिक सर्वे को दो हिस्सों में पेश करने का चलन शरू हो गया है।
कोरोना से अर्थव्यवस्था को उबारने वाला बजट?
वहीं, इस बार अगले वित्त वर्ष 2022-23 का बजट 1 फरवरी को पेश होने वाला है। देश में कोरोना की तीसरी लहर के दौरान इसे पेश किया जा रहा है, ऐसे में संभावना जताई जा सकती है कि सरकार द्वार कोरोना से अर्थव्यवस्था को उबारने वाला बजट पेश किया जा सकता है। वहीं, अब 1 फरवरी को ही पता चलेगा कि सरकार इस बार के बजट में क्या खास पेश करती है, जिससे आम जनता को लाभ हो सके।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source