February 6, 2023

भारत में इन बीमारियों के कारण हो रही सबसे ज्यादा मौतें, यहां देखिए 2022 की जानलेवा Top 5 Diseases

wp-header-logo-467.png

Year Ender 2022: कोरोना वायरस (Coronavirus) की जानलेवा बीमारी के आने के बाद भी कुछ ऐसी बीमारियां हैं, जिनका देशभर में बोलबाला रहा। अगर आंकड़ों की मानें तो साल 2022 में लोगों की मौत के पीछे सबसे बड़ी वजह कई खतरनाक बीमारियां थीं। लेकिन, खुशी की बात ये है कि साइंस और टेक्नोलॉजी के विकास की वजह से बहुत सी बीमारियों का इलाज संभव भी हो पाया है। बता दें कि कुछ बीमारियां ऐसी भी हैं, जिनका पूरी तरह से इलाज अभी भी मुमकिन नहीं है। भारत (India) में कुछ ऐसी बीमारियां हैं, जो काफी खतरनाक है और उनके इलाज की लागत बहुत अधिक है। साल 2022 की जानलेवा बीमारियों के बारे में यहां जानते हैं…
– दिल से जुड़ी बीमारियां
बता दें कि भारत में दिल की बीमारियों के कारण सबसे ज्यादा मौतें होती हैं। अगर आंकड़ों की बात करें तो देश में लगभग 24.8% मौतें दिल की बीमारियों के कारण होती हैं। साल 2022 में हार्ट फेलियर सबसे ज्यादा लोगों की मौत का कारण बना है, लेकिन इसके लिए कुछ सावधानियां बरतने के साथ, अच्छी और हेल्दी लाइफस्टाइल जीना बहुत जरूरी है।
– सांस संबंधी बीमारियां
साल 2022 में देशभर में सांस से संबंधित बीमारियों से 10.2 % लोगों की मौतें हुई हैं। एक रिसर्च से ये बात सामने आई है कि इससे होने वाली मौतों में भारत का 47 प्रतिशत हिस्सा शामिल है। सांस की समस्या होने के पीछे बड़ी वजह एयर पॉल्युशन और स्मॉग है।
– ट्यूबरक्लोसिस (TB)
बता दें कि एक समय था जब देश में टीबी को लाइलाज बीमारी समझा जाता था, लेकिन आज के वक्त में इस बीमारी का इलाज संभव है। इसके बावजूद भारत में सबसे अधिक मौतें टीबी के कारण ही होती हैं। टीबी के रोगियों की संख्या में काफी गिरावट पिछले दशक में देखी गई थी, फिर भी इस बीमारी से देश में तकरीबन 10.1% मौतें होती हैं।
– डाइजेशन संबंधी समस्याएं
डाइजेस्टिव सिस्टम से संबंधित बीमारियां भी भारत में होने वाली मौतों के पीछे बड़ा कारण हैं। देश में पाचन संबंधी रोगों से 5.1% मौंते होती हैं। इसका सबसे बड़ा कारण लोगों द्वारा खान-पान में लापरवाही और बहुत ही हानिकारक लाइफस्टाइल जीना है। इसके साथ ही पीने के साफ पानी की कमी भी एक कारण है।
– सुसाइड
सुसाइड तो आजकल बहुत ही ज्यादा सुर्खियों में बना हुआ है। 15-29 वर्ष की उम्र के भारतीयों में मृत्यु का दूसरा सबसे बड़ा कारण खुद ही अपनी जान ले लेना होता है। यह भारत में होने वाली कुल मौतों का 3% है। NCRB की 2022 की रिपोर्ट के आधार पर 1.64 लाख से ज्यादा लोगों ने 2022 में आत्महत्या की है। युवाओं में लगातार बढ़ता डिप्रेशन इसके पीछे की वजह है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author