January 27, 2023

कन्हैयालाल मर्डर, मूंछ रखने पर हत्या, भतीजे ने किए ताई के टुकड़े: इन घटनाओं से 2022 में दहला राजस्थान

wp-header-logo-461.png

जयपुर। साल 2022 खत्म होने जा रहा है और 2023 शुरू होने जा रहा है। हर साल की तरह यह भी कुछ कड़वी और मीठी यादों के साथ ऐसे जख्म देखकर जा रहे है जिसको कभी नहीं भूला पाएंगे। हालांकि कुछ यादें और दृश्य ऐसे होते हैं जो बीतते समय के साथ हमारे चित्त पटल से धुंधुले होते चले जाते हैं। बीतेे कुछ सालों से प्रदेश में अपराधिक घटनाओं में काफी इजाफा हुआ है। इस साल कन्हैयालाल मर्डर, मूंछ रखने पर हत्या और भतीजे ने किए ताई के टुकड़े जैसे घटनाओं से राजस्थान दहला है। इन घटनाओं से हर कोई दहल गया था। इन घटनाओं में बड़े हत्याकांड के अलावा बदमाशों की गैंगवार, पुजारियों के आत्मदाह प्रकरण, सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाली घटनाएं शामिल रही। इस रिपोर्ट में हम आपको प्रदेश की उन सभी बड़ी दुर्घटनाओं से रूबरू कराएंगे।
उदयपुर : कन्हैयालाल हत्याकांड
उदयपुर में 28 जून को दर्जी कन्हैयालाल साहू की गला काटकर दिनदहाड़े हत्या कर दी गई। इसके बाद हत्याकांड को अंजाम देने वाले गौस मोहम्मद और रियाज को पुलिस ने पकड़ लिया। हत्यारों के दुकान में घुसकर ताबड़तोड़ हमले किए जिसमें कन्हैयालाल को संभलने का भी समय नहीं मिला और लगातार वार से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। कन्हैयालाल की हत्या के बाद हत्यारे मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद ने एक वीडियो जारी किया था जिसके बाद देशभर में इस कांड की चर्चा हुई और राजस्थान में कानून व्यवस्था पर सवाल उठने लगे।
जालोर : पानी पीने पर दलित छात्र की पिटाई और मौत
प्रदेश के जालोर का सुराणा गांव इसी वर्ष सुर्खियों में रहा जहां एक 9 साल के दलित स्टूडेंट की सरस्वती बाल विद्या मंदिर में हुई पिटाई से मौत ने पूरे देश का ध्यान इस गांव की ओर खींचा। वहीं मामले में आरोप लगा कि हेडमास्टर ने बच्चे की इसलिए पिटाई कर दी क्योंकि उसने टीचर वाली मटकी से पानी पी लिया था। मारपीट के करीब 24 दिन बाद इलाज के दौरान बच्चे की मौत हो गई थी। वहीं इस मामले में स्कूल प्रशासन का दावा था कि किसी भी बच्चे को पानी पीने से नहीं रोका गया था, बल्कि एक झगड़ा हुआ था, जिसके बाद शिक्षक ने हाथ उठाया था।
पाली : मूंछ से चिढ़ने पर जितेंद्रपाल की हत्या
पाली जिले में जितेंद्र पाल मेघवाल हत्या के मामले ने सभी को हैरान कर दिया। बताया गया कि आरोपी जितेंद्र के गुड लुक्स और अच्छी पर्सनैलिटी से काफी चिढ़ते थे और युवक के मूंछें रखने पर काफी नाराज थे। 15 मार्च को जितेंद्र पाल की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी। वहीं, पुलिस ने कहा कि आपसी रंजिश के चलते हत्या हुई। जितेंद्र चिकित्सा विभाग में कोविड सहायक के पद पर कार्यरत था और वह ड्यूटी के बाद घर लौट रहा था, इसी दौरान हमलावरों ने पीछे से वार किया जिसमें वह घायल होकर गिर गया. इसके बाद हमलावरों ने चाकू से कई जगहों पर वार किया।
सीकर : राजू ठेहट पर सरेआम बरसाई गई गोलियां
सीकर जिले में 3 दिसंबर को गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या कर दी गई थी जहां बदमाशों ने ठेहट को उसके घर बाहर गोली मारी। हत्याकांड के बाद इसकी जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई गैंग के रोहित गोदारा ने ली जिसमें उसने कहा कि आनंदपाल और बलबीर की हत्या का बदला लिया गया है। मालूम हो कि ठेहट की आनंदपाल गैंग और बिश्नोई गैंग से पुरानी रंजिश थी और जमानत पर बाहर आने के बाद से लगातार उसे धमकियां मिल रही थी। ठेहट की हत्या के बाद सीकर जिले में सनसनी फैल गई और उसको गोली मारने के दौरान पास से गुजर रहे एक अन्य राहगीर की गोली लगने से मौत हो गई।
जयपुर: भतीजे ने कर दिए ताई के 10 टुकड़े
प्रदेश की राजधानी जयपुर में 11 दिसंबर को एक 32 साल के भतीजे अनुज शर्मा ने अपनी ताई सरोज शर्मा की हथौड़े से सिर पर वार कर मौत के घाट उतार दिया है। हत्या कर शव को मार्बल कटर से काटकर जंगल में फेंक दिया। इस हत्याकांड के सामने आने के बाद हर कोई सन्न रह गया। पुलिस पूछताछ में पता चला कि आरोपी 11 दिसंबर की सुबह दिल्ली में कीर्तन के लिए जाना चाहता था जहां कके लिए मना कर दिया। इसी बात पर दोनों की बहस शुरू हो गई और उसने हथौड़ा से सिर पर वार कर उनकी हत्या कर दी।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author