November 28, 2022

Pro Kabaddi League 2022: हरियाणा का ये गांव है कबड्डी के खिलाड़ियों की खान, इस बार लीग का रोमांच बढ़ाएंगे यहां के ये धुरंदर

wp-header-logo-606.png

खेल: भारत में कबड्डी (Kabaddi in India) का रोमांच एक बार फिर बहुत जल्द शुरू होने वाली है। जी हां, कबड्डी की सबसे बड़ी लीग प्रो कबड्डी लीग (Pro Kabaddi League) सीजन 9 की शुरूआत अगले महीने 7 अक्टूबर से होने वाली है। इस लीग के आगाज को लेकर पहले चरण का शेड्यूल आयोजकों द्वारा जारी कर दिया गया है। पहले चरण में 66 मुकाबले खेले जाएंगे। वहीं इसके सभी मैचों का आयोजन बेंगलुरु के श्री कंतीर्वा इंडोर स्टेडिय (Shree Kanteerva Indoor Stadium) और पुणे के श्री शिवछत्रपति स्पोर्ट्स कॉम्पेल्क्स में खेला जाएगा। ऐसे में कबड्डी के शुरू होने वाले रोमांच के पहले आज हम आपको इस लीग में शामिल होने वाले पानीपत के एक छोटे से गांव मे रहने वाले खिलाड़ियों के बारें में बताएंगे। इन खिलाडि़यों ने पानीपत के गांवों से निकलकर (villages of Panipat) बड़ी-बड़ी टीम में जगह बनाई है। इनके खेलने स्‍टाइल का अंदाज सबसे अलग है आइए जानते हैं कौन वह खिलाड़ी …
ये 9 खिलाड़ी दिखाएंगे अपना हुनर
प्रो कबड्डी सीजन-नौ (Pro Kabaddi Season 9) में जिले के नौ खिलाड़ी अपना हुनर ​​दिखाएंगे। अलग-अलग टीमों में बड़शाम गांव (Badsham village) के छह और सुताना गांव के तीन खिलाड़ियों का चयन किया गया है। सभी खिलाड़ी किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं। बुदशाम गांव के सोमबीर गुलिया (Sombir Gulia) को पुनेरी पलटन ने 40 लाख रुपए में खरीदा है। रोहित गुलिया को पटना पाइरेट्स (Patna Pirates) ने 30 लाख रुपये और सुशील को जयपुर पिंक पैंथर्स ने 10 लाख रुपये में खरीदा है। गुजरात ने सौरव गुलिया को 10 लाख रुपये और साहिल गुलिया को तेलुगु टाइटन ने 8.78 लाख रुपये में खरीदा है। मोनू भी दिखाएंगे टैलेंट इसी तरह सुताना गांव के नीरज तंवर को पटना पाइरेट्स, रोहित को बेंगलुरु और अनुज को पटना पाइरेट्स ने खरीदा है। सोमबीर और सुशील गुलिया सगे भाई हैं और दोनों प्रो कबड्डी में खेलेंगे। सोमबीर स्पोर्ट्स कोटे से वायुसेना (Air Force) में कार्यरत हैं।
कबड्डी खेल के लिए पूरे देश में प्रसिद्ध हैं बुड़शाम
गौरतलब है कि देश में जब-जब खेल और खिलाड़ियों की बात की जाती (sports and players) है तो हरियाणा का नाम सबसे ऊपर आता है। हरियाणा के युवाओं में खेलों को लेकर खासा जुनून भी देखने को मिलता है। खेलों की बदौलत हरियाणा में अधिकांश युवा नौकरी भी प्राप्त करते हैं और साथ ही देश का नाम भी रोशन करते हैं। हरियाणा का कोई गांव फुटबॉल, कोई बॉक्सिंग तो कोई बास्केटबॉल के लिए माना जाता है।ऐसा ही एक गांव बुड़शाम है। बुड़शाम गांव (Budsham village) कबड्डी खेल के लिए पूरे देश में प्रसिद्ध हैं। यहां से हर साल 10 से 15 खिलाड़ी स्टेट और नेशनल टूर्नामेंट में खेलते है। यहां के जसवीर बिरवाल, जसमेर गुलिया, जसमेर जस्सा और सुरजीत नरवाल एशियन गेम्स में कबड्डी में गोल्ड मेडल जीत चुके (won gold medals in Kabaddi in Asian Games) है। बताते चले कि ये गांव पानीपत से 20 किलोमीटर दूर स्थित है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author