September 30, 2022

प्रसूता की मौत के बाद डॉक्टर पर दर्ज हुआ केस तो दे दी जान, अब सुसाइड केस में आया नया मोड़

wp-header-logo-519.png

जपयुर। राजस्थान के चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा के विधानसभा क्षेत्र दौसा के लालसोट में इलाज में लापरवाही के आरोप में हत्या का मामला दर्ज करने की वजह से महिला डॉक्टर ने खुदकुशी कर ली। डिलीवरी के दौरान महिला की मौत के बाद परिजन हंगामा कर रहे थे। डॉक्टर के खिलाफ हत्या का मामला भी दर्ज कराया था। डॉक्टर डिप्रेशन में आ गई और फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। डॉ. अर्चना शर्मा (42) और उनके पति डॉ. सुनीत उपाध्याय (45) का लालसोट में ही आनंद हॉस्पिटल है।
डॉ. अर्चना का सुसाइड नोट सामने आया
डॉक्टर अर्चना शर्मा सुसाइड केस में नया मोड़ आ गया है। अब डॉ. अर्चना का सुसाइड नोट सामने आया है। इस सुसाइड नोट में डॉ. अर्चना शर्मा ने लिखा कि “मैंने कोई गलती नहीं की है, किसी को नहीं मारा, पीपीएच एक कॉम्प्लिकेशन है इसके लिए डॉक्टरों को प्रताड़ित करना बंद करो। सुसाइड नोट के अंत में उन्होंने लिखा, प्लीज मेरे बच्चे को मां की कमी महसूस नहीं होने देना।
आज प्रदेश में डॉक्टरों की हड़ताल
डॉ. अर्चना शर्मा के आत्महत्या की सूचना मिलते ही डॉक्टर्स में आक्रोश फैल गया। प्राइवेट हॉस्पिटल्स एंड नर्सिंग होम्स सोसायटी ने बंद का आह्वान कर दिया। वहीं सेवारत चिकित्सकों ने भी बुधवार को सुबह 9 से 11 बजे तक के 2 घंटे कार्य बहिष्कार की घोषणा की। दौसा में जहां सभी निजी अस्पताल, लैब और मेडिकल स्टोर आज बंद रखे गये हैं। वहीं जयपुर में भी आज सभी निजी अस्पताल बंद रहेंगे। निजी अस्पतालों में सिर्फ भर्ती मरीज़ों को ही अटेंड किया जाएगा।
दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग
चिकित्सकों की मांग है कि दोषी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर गिरफ्तार किया जाये। पुलिस अफसरों और प्रसूता के परिजनों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया जाये। उन्होंने चेतावनी दी है कि मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट-2008 के तहत कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलन तेज किया जायेगा। जार्ड ने भी कार्रवाई नहीं होने पर सख्त कदम उठाने की चेतावनी दी है।
आत्महत्या के लिये उकसाने के खिलाफ दो पर केस दर्ज
लालसोट पुलिस उपाधीक्षक शंकरलाल मीणा ने बताया कि पूरे घटनाक्रम के बाद मृतका डॉ. अर्चना शर्मा के पति उपाध्याय ने लालसोट थाने में आत्महत्या के लिए प्रेरित कराने की एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें सोमवार को धरना प्रदर्शन करने वाले बीजेपी नेता बल्या जोशी और एक अखबार के पत्रकार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस फिलहाल डॉक्टर के पति की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर की जांच कर रही है।
यह है पूरा मामला
दरअसल दौसा जिले के लालसोट कस्बे के आनंद हॉस्पिटल में सोमवार को एक प्रसूता की प्रसव के दौरान मौत हो गई थी। उसके बाद मृतका के परिजनों और ग्रामीणों ने वहां जमकर हंगामा किया था। हंगामे के बाद अस्पताल के डॉक्टर सुनित उपाध्याय और उनकी पत्नी डॉ. अर्चना शर्मा के खिलाफ हत्या की धाराओं में मामला दर्ज किया गया था। इस पर सोमवार की रात करीब ढ़ाई बजे ग्रामीणों का हंगामा शांत हुआ था।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author