June 26, 2022

तीन सगी बहनों सहित पांच के शव मिले, पुलिस की कांप गई रूह, दो दिन से थे लापता

wp-header-logo-503.png

जयपुर। प्रदेश की राजधानी जयपुर के दूदू तहसील में शनिवार को एक साथ पांच शव मिल जाने से सनसनी फैल गई है। पुलिस ने बताया कि सभी शवों की पहचान हो गई है और घरवालों को सूचना दी गई है। आज सुबह जयपुर के दूदू में तीन महिलाओं और दो बच्चों के शव मिलने की जानकारी पुलिस को मिली थी। गांववालों ने बताया कि कुएं में मिले सभी शवों का संबंध दूदू से ही है। इनमें तीन सगी बहनें और उनके दो बच्चे हैं। शव बरामद होने के बाद मीणा समाज के लोगों में खासा आक्रोश व्याप्त है।
पुलिस की कांप गई रूह
3 दिन पहले दूदू से लापता हुई तीन विवाहिताओं सहित दो बच्चों के शव 72 घंटे बाद दूदू के सुखी तलाई के पास बरामद हो गए हैं। इन पांचों के शव एक कुएं से बरामद हुए हैं। मौके पर पुलिस के आला अधिकारी मौजूद हैं। एक के बाद एक जब पांचों के शव कुएं से बाहर निकाले गए तो पुलिस की भी रूह कांप गई। देखने वालों की आंखें छलक पड़ी।
प्रारंभिक जांच में सुसाइड मान रही है पुलिस
गांववालों की मदद से शवों को बाहर निकाला गया। तीनों बहनें दूदू कस्बे के मीणा मोहल्ले की रहने वाली थीं। सुबह दूदू से 2 किलोमीटर दूर नरैना रोड पर कुएं में शव मिले हैं। लोगों का कहना है कि तीनों बहनों ने बच्चों को मारकर खुद सुसाइड कर लिया। उन्होंने ऐसे क्यों किया इसकी जानकारी किसी को नहीं है। प्रारंभिक जांच में पुलिस इसे सुसाइड केस मान रही है।
बाजार जाने का कहकर निकली थी घर से
दूदू पुलिस ने बताया कि तीन दिन पहले दोपहर में काली देवी (27), ममता मीणा (23), कमलेश मीणा (20) घर से गायब हो गई थीं। उनके साथ चार साल का बेटा हर्षित और 20 दिन का दूसरा बच्चा भी गायब था। ये सभी 25 मई को बाजार जाने का कहकर घर से निकली थीं। शाम तक सब नहीं लौटे तो परिवार ने तलाश शुरू कर दी, लेकिन कोई जानकारी नहीं मिल सकी। दूदू-नरैना सड़क मार्ग पर एक चिकित्सालय के सीसीटीवी में तीनों महिलाओं को अपने बच्चों के साथ जाते हुए देखा गया था। अत में पांचों के शव दूदू के सुखी तलाई के पास बरामद हुए।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source