January 31, 2023

सर्दी में बढ़ा हाइपोथर्मिया का खतरा : अधरंग, हार्ट अटैक और ब्रेन स्ट्रोक भी हो सकता है, ऐसे रखें ख्याल

wp-header-logo-428.png

सर्दी में बढ़ा हाइपोथर्मिया का खतरा
करनाल। देश भर में जिस तरह से कंपकंपाने वाली सर्दी ( Cold ) पड़ रही है। पहाड़ी क्षेत्रों में हिमपात के कारण मैदानी इलाकों में हड्डियों को गलाने वाली शीतलहर चल रही है। सर्दी के कारण खेतों में पानी की बूंद जमने लगी हैं। रात का तापमान माइनस से नीचे गिर रहा है। दोपहर में धूप निकलने के बाद भी कंपकंपी छूट रही है। सर्दी के कारण बुजुर्गों और बच्चों की सेहत पर खतरा मंडरा रहा है। डाक्टरों ने सलाह दी है कि सुबह और शाम की सैर से परहेज करें। सर्दी के कारण अधरंग, हार्ट अटैक, छाती में संक्रमण के साथ माइंड स्ट्रोक का खतरा बढ़ गया है।
उत्तर भारत में तापमान लगातार गिर रहा है। खेतों में पाला जमने के कारण लोग परेशान हैं। लोगों पर हाइपोथर्मिया का खतरा मंडरा रहा है। छाती रोग विशेषज्ञ डा. नेत्रपाल ने बताया कि बुजुर्गों को सुबह और शाम को सैर से बचना चाहिए। शुगर के मरीजों, उच्च रक्तचाप तथा दिल के रोगियों को सावधानी बरतने की जरूरत है। सर्दी में अधरंग और ह्दय आधात का खतरा बढ़ जाता है।
क्या होता है हाइपोथर्मिया ( what is hypothermia )
हाइपोथर्मिया के बारे में डा. नेत्रपाल ने बताया कि इसमें शरीर का तापमान गिरने लगता है। इस स्थिति में खतरा बढ़ सकता है। बच्चों और बुजुर्गों में यह खतरा अधिक रहता है। किसी भी स्थिति में शरीर का तापमान गिरना नहीं चाहिए। उन्होंने बताया कि सर्दियों में गर्म पानी का प्रयोग अधिक करें। इसके अलावा भाप का प्रयोग करें।
कैसे करें सर्दियों में बचाव ( How to protect in winter )
सर्दियों में शरीर को पूरी तरह से ढक कर रखें। बुजुर्गों को सुबह और शाम को सैर करने से रोकें। सर्दियों से बचने के लिए गर्म पानी से नहाएं। शुगर के मरीजों को विशेष सावधानी रखना चाहिए। बच्चों और बुजुर्गों को घर से बाहर नहीं निकलने दें।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author