February 6, 2023

Period Cramps: पेट दर्द और पीरियड्स क्रैंप से पाएं इंस्टेंट राहत, लाइफस्टाइल में करें ये अहम बदलाव

wp-header-logo-493.png

Remedies for Period Cramps: महिलाओं में पीरियड्स होना एक नेचुरल प्रोसेस है, लेकिन आमतौर पर यह प्रक्रिया बहुत ही ज्यादा दर्दनाक होती है। पीरियड्स के दौरान कई महिलाएं पेट के निचले हिस्से और पीठ में दर्द का सामना कर रही होती हैं। बता दें कि इस समस्या को प्रीमेन्सट्रुअल सिंड्रोम (Premenstrual Syndrome) कहा जाता है, इस दौरान शरीर के कई हिस्सो में दर्द, बैचेनी, सिर दर्द और मूड स्विंग होने लगते हैं। पेट के निचले हिस्से में दर्द, ऐंठन और बैचेनी गर्भाशय के सिकुड़ने के चलते होती है। कुछ महिलाओं को ये दर्द और ऐंठन कम होती है और कुछ महिलाओं में यह असहनीय भी हो सकती है।
अगर पीरियड के दिनों में पेट के निचले हिस्से यानी पेल्विक श्रेणी में ज्यादा दर्द और क्रैम्प उठ रहे हों तो आप अपने लाइफस्टाइल में कुछ जरूरी बदलाव करके इस दर्द से राहत पा सकती हैं। अगर इस दर्द से राहत पाने के लिए आप दवाओं का सहारा लेती हैं तो आपको यह पता होना चाहिए यह आपके शरीर में साइड इफेक्ट पैदा कर सकती है। इसलिए नेचुरल तरीकों और दिनचर्या में बदलाव लाकर आप दर्द और क्रैम्प से राहत पा सकते हैं।

पेट के निचले हिस्से में मौजूद गर्भाशय पीरियड्स के दौरान संकुचित होता है, जो दर्द का कारण बनता है।अगर आप इसकी सिकाई करेंगी तो आपको दर्द और क्रैम्प्स से काफी राहत मिलेगी। इसके लिए आप हीट पैड या हॉट वाटर हीट पैड को पेट पर रखकर सिंकाई कर सकती हैं।
पेट और पीठ के निचले हिस्से की हल्के हाथों से मसाज करें। याद रहे पीरियड्स के ज्यादा भारी काम नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे सिकुड़ रहे गर्भाशय पर जोर पड़ता है। जो दर्द और क्रैम्प्स को बढ़ा सकता है, इसलिए आराम करना भी जरूरी है।
फाइबर, कैल्शियम और प्रोटीन से भरपूर डाइट लेना बहुत अच्छा होता है। इसमें आप हरी पत्तेदार सब्जियां फल और सलाद ले सकते हैं। पीरियड्स के दौरान कैफीन और स्मोकिंग से दूरी बनाना आपकी सेहत के लिए अच्छा होगा।
पीरियड्स के दौरान नमक कम से कम लेना चाहिए। दरअसल, ज्यादा नमक के इनटेक से शरीर में वाटर रिटेंशन हो सकता है और इससे पीएमएस की दिक्कत हो सकती है। इसलिए जितना हो सके नमक का सेवन काम कर दें।

चाय पीना आपके दर्द के लिए अच्छा होगा। जी हां पीरियड क्रैम्प को कम करने का सबसे आसान उपाय है कि आप चाय पीजिए। ये दर्द और पीरियड क्रैम्प को दूर करने के साथ आपके मूड स्विंग को सुधारने में भी मदद करेगी।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author