August 14, 2022

Kota: पानी में करंट से युवक की मौत, न्यास ने खोदा हुआ था गड्ढा, परिजन सरकारी नौकरी की मांग पर अड़े, मोर्चरी में हंगामा

wp-header-logo-359.png

news website
कोटा. शहर के स्टेशन क्षेत्र में सड़क पर खोदे हुए गड्ढे में गिरकर एक युवक की मौत हो गई। मौत का कारण पानी में करंट था। बिना किसी सावधानी और सूचना के ये गड्ढा खोदा गया, जिसमें विद्युत कनेक्शन के चलते करंट प्रवाहित हो रहा था, इसकी सूचना भी संबंधित विभाग को नहीं दी गई। मनोज टाकीज रोड पर आईसीआईसीआई बैक के पास का मामला है।
युवक की मौत के पीछे यूआईटी की लापरवाही सामने आई है। ऐसे में स्टेशन क्षेत्र के व्यापारियों में भी गहरा आक्रोश है, लोगों ने इस घटना के विरोध में बाजार बंद कर दिए वहीं मृतक के परिजनों को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग की है। व्यापारियों का कहना है कि जब तक सरकारी नौकरी के लिए नियमानुसार कार्रवाई नहीं होती तब तक शव को नहीं उठाया जाएगा।

युवक की मौत के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, विधायक संदीप शर्मा ने मोर्चरी पहुंचकर परिजनों से बातचीत की और सारे मामले की जानकारी ली। मामले में मोर्चरी पहुंचे पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल ने आरोप लगाया है कि अनियोजित विकास की भेंट शहरवासी चढ़ रहे हैं। अब तक एक दर्जन मौतें हो चुकी हैं। न्यास ने गड्ढा खोदा हुआ था, कोई सावधानी नहीं बरती। मृतक के परिजनों की जो भी मांगें होंगी, उसके साथ हम खड़े हैं।

दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई, हर संभव सरकार करेगी मदद
बिजली कम्पनी केईडीएल को बिना सूचना दिए नाला खोद जा रहा था, जिसके नीचे दबी केबल कट गई और पानी में करंट फैल गया। सूचना के बाद तत्काल संबंधित क्षेत्र में बिजली बंद कर दी गई तथा केईडीएल की टीम एईएन बी-4 रूपेश बोशाक की अगुवाई में मौके पर पहुंच गई। यहां पता चला कि सोनू नाम के व्यक्ति को करंट लगा है तथा उसे एमबीएस अस्पताल लेकर गए हैं।
जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, विधायक संदीप शर्मा, पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल भी अस्पताल की मोर्चुरी पहुंचे और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वहीं यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने घटना को दुखद बताते हुए दोषियों पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया। वहीं पीड़ित परिवार की हर संभव मदद करने की बात कही।
काम करने से पहले बिजली कम्पनी को नहीं दी गई कोई जानकारी
केईडीएल के सीओओ शांतनु भट्टाचार्य ने बताया कि जिस जगह सोनू नाम के व्यक्ति को करंट लगा वहां यूआईटी की ओर से नाले के निर्माण के लिए खुदाई का कार्य चल रहा है। यहां केईडीएल की भूमिगत सर्विस लाइनें है। यूआईटी की ओर से यहां कार्य करने से पहले केईडीएल से सर्विस लाइनों के बारे में कोई जानकारी नहीं ली गई तथा बिना कोई सूचना के खुदाई का कार्य शुरू कर दिया। खुदाई के दौरान यहां मौजूद पानी की पाइप लाइनें भी टूट गई, जिससे पानी फैल गया।
मौके पर टीम ने जांच की तो पाया कि यहां बिजली की सर्विस लाइनें भी यूआईटी की ओर से की गई खुदाई के दौरान कटी हुई है तथा खुदाई से बने गड्ढे में भरे पानी में सर्विस लाइन कटने से करंट आ रहा था। सोनू नाम का व्यक्ति यहां से गुजरते समय गडढे में गिरा और उसे करंट लग गया। इस हादसे में केईडीएल की कोई गलती नहीं है, यूआईटी की जेसीबी ने रात के अंधेरे में भूमिगत सर्विस लाइनों को काट दिया और सर्विस लाइनें कट जाने की भी सूचना केईडीएल को नहीं दी, जिससे यह हादसा हुआ है।
शहर में हो रहे विकास कार्य की भेंट पहले भी चढ चुके कई लोग
इससे पूर्व भी कुन्हाडी क्षेत्र में कार्य के दौरान केबल तोड देने से एक एक्टिवा सवार उसकी चपेट में आ गया था, जिसकी भी मौत करंट लगने से हो गई थी, वहीं चम्बल रिवर फ्रंट में चल रहे कार्य के दौरान दो मजदूरी की मौत हुई, उसके बाद एक मजदूर की और मौत हुई। काला तालाब में एक बच्चे की खड्डें में गिरने से मौत हुई, वहीं एक अन्य बच्चे की काला तालाब स्थित आरयूआईडीपी द्वारा डाली जा रही पाइप लाइन के खडे्डे में भरे पानी में डूबने से मौत हुई। एक व्यक्ति की मौत घटोत्कच्च चौराहे पर हुई। इसके साथ ही ना जाने कितने लोग इस विकास की भेंट चढ़ चुके हैं।
Your email address will not be published. Required fields are marked *







This is the News Website by Chambal Sandesh
Rajasthan, Kota
THIS IS CHAMBAL SANDESH YOUR OWN NEWS WEBSITE

  • एजुकेशन
  • कर्नाटक
  • कोटा
  • गुजरात
  • Chambal Sandesh

    source

    About Post Author