August 8, 2022

Commonwealth Games 2022: बजरंग पुनिया से लेकर PV सिंधु तक, बर्मिघम से गोल्ड लाएंगे ये खिलाड़ी

wp-header-logo-535.png

चोट के कारण भारतीय स्टार जैवलिन थ्रोअर (javelin thrower) नीरज चोपड़ा इस बार कॉमनवेल्थ गेम्स 2022( Commonwealth Games 2022)में शामिल नहीं होंगे। मालूम हो नीरज से राष्ट्रमंडल खेलों 2022 (Neeraj was being expected) में भारत की सबसे ज्यादा उम्मीद लगाई जा रही (big blow for India) थी। ऐसे में नीरज का गेम्स से रुलऑउट (being ruled out) होना भारत के लिए एक बहुत बड़ा झटका हैं। लेकिन सब कुछ खत्म नहीं हुआ(Indian players) है क्योंकि कई अन्य भारतीय खिलाड़ी है जो अन्य खेलों में भारत के लिए मेडल ला सकते (other sports) हैं।बैडमिंटन में पीवी सिंधु और लक्ष्य सेन से लेकर पहलवान बजरंग पुनिया, रवि कुमार दहिया और भारत की महिला क्रिकेट और हॉकी टीम तक – इन सभी से पदक लाने की उम्मीद की जाएगी।
बजरंग पुनिया और रवि दहिया से उम्मीद
कुश्ती हमेशा से एक ऐसा अनुशासन रहा है जिसमें भारत ने अतीत में बहुत पदक जीते हैं, चाहे वह राष्ट्रमंडल खेल हो या कोई अन्य प्रमुख आयोजन (Commonwealth Games 2022)। राष्ट्रमंडल खेलों 2022 के दौरान भी देश की उम्मीदें तोक्यो ओलंपिक पदक विजेता रवि कुमार दहिया(Olympic medalists) और बजरंग पूनिया पर टिकी होंगी। जोड़ी के अलावा, दीपक पुनिया, विनेश फोगट, साक्षी मलिक और दिव्या काकरान से भी भारत की पदक तालिका में शामिल होने की उम्मीद की जाएगी।
रोहित यादव से जताई ज रही उम्मीद
नीरज चोपड़ा की चोट भारतीय प्रशंसकों के लिए एक बुरा सपना हो सकता है, लेकिन वे अभी भी रोहित यादव (Rohit Yadav) के लिए खुश हो सकते हैं, जो टोक्यो ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता की अनुपस्थिति में देश की उम्मीदों पर खरा उतरेंगे। सबसे विशेष रूप से, रोहित हाल ही में अपने पहले विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप फाइनल में दसवें स्थान पर रहे, जिसमे नीरज ने रजत पदक जीता (Neeraj winning the silver medal)।
लवलीना बोरगोहेन से भी उम्मीद
लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain recently) ने हाल ही में अपने कोच के बारे में ट्वीट के बाद सुर्खियां बटोरीं, उन्हें राष्ट्रमंडल खेलों में प्रवेश नहीं दिया गया था, वह टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली (India’s top prospects to win a bronze medal) भारत की शीर्ष संभावनाओं में से एक होंगी। लवलीना के अलावा, मौजूदा विश्व चैंपियन निकहत ज़रीन भी एक गर्म संभावना होगी, जबकि अमित पंघाल, संजीत कुमार और शिवा थापा भी गौरव के लिए तरस रहे होंगे।
मीराबाई चानू से भी उम्मीद
टोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) भारोत्तोलन में भारत की पदक संभावनाओं को सुर्खियों में लाएँगी। उनके अलावा, बिंद्यारानी देवी, गुरुराजा पुजारी और पूनम यादव भी भारत की पदक तालिका में शामिल हो सकते हैं।
पीवी सिंधु इस समय एक शानदार फॉर्म में
बैडमिंटन भारत को कम से कम चार पदक दिला सकता है, जिसमें दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु भारत की अगुवाई कर रही (PV Sindhu leading India) हैं। लक्ष्य सेन, किदांबी श्रीकांत, सात्विक रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी सभी ने 2022 में प्रभावित किया है और भारत की पदक तालिका को बढ़ा सकते हैं।
क्रिकेट और हॉकी में भी उम्मीद
भारतीय महिला हॉकी टीम तोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक से मामूली रूप से चूक गई, लेकिन उन्होंने अपने धैर्य और दृढ़ संकल्प से दिल जीत लिया। राष्ट्रमंडल खेलों 2022(Commonwealth Games 2022) में भारतीय पूर्व संध्या पर सभी तरह से जाने की उम्मीद होगी (Indian eve)। इसके अलावा 1998 के बाद पहली बार क्रिकेट को राष्ट्रमंडल खेलों (Commonwealth Games) में शामिल किया गया है, लेकिन यह केवल महिला क्रिकेट होगी और हरमनप्रीत कौर की टीम इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड की पसंद के (team is expected to feature in India) खिलाफ भारत के पदक तालिका में शामिल होने की उम्मीद कर रही होगी। पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, बारबाडोस और श्रीलंका (Sri Lanka)।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author