May 21, 2022

Knowledge News: जानिए क्यों गायब हो गई फोन से रिमूवेबल बैटरी, इसे फोन में ही कर दिया जाता है फिक्स

wp-header-logo-574.png

Knowledge News: पिछले कुछ सालों में टेक्नोलॉजी (Technology) की दुनियां ने फुल स्पीड के साथ तरक्की की है। पहले कीपैड (Keypad) फोन चलते थे, उसके बाद टचपैड (Touch Pad) चलने लगे और फिर आया स्मार्टफोन (Smartphones) का जमाना और अब इसमें भी आए दिन नए नए बदलाव आने लगे हैं। एक टाइम था जब फोन हैंग करता था तो लोग बैटरी (Battery) रिमूव करके उसे रिस्टार्ट करते थे और मोबाइल फोन ठीक भी हो जाया करता था। लेकिन फिर रिमूवेबल बैटरी (Removable Battery) की जगह ले ली नॉन रिमूवेबल बैटरी (Non Removable Battery) ने। शुरुआत में इक्का दुक्का फोन में ये नॉन रिमूवेबल बैटरी आती थी लेकन अब लगभग हर स्मार्टफोन में बैटरी फिक्स कर दी गई हैं।
ये तो एक नॉर्मल से इंफॉर्मेशन थी। नॉन रिमूवेबल बैटरी का कल्चर प्रतिष्ठित कंपनी एपल ने शुरू किया था और धीरे धीरे इस ट्रेंड को सभी मोबाइल कंपनियां फॉलो करने लगीं। पर क्या आपने कभी सोचा है कि रिमूवेबल बैटरी को स्मार्टफोन से गायब क्यों कर दिया गया। तो चलिए हम आपको बताते हैं रिमूवेबल बैटरी को नॉन रिमूवेबल बैटरी से रिप्लेस क्यों कर दिया गया।
बैटरी और कंज्यूमर की सेफटी के लिए (For Battery and Consumer Safety)
बैटरियों में एक पतली इलेक्ट्रोलाइट होती है जो कैथोड और एनोड इलेक्ट्रोड को अलग करती है और एनर्जी को स्टोर करते हैं। इलेक्ट्रोड सीधे संपर्क में आने पर बहुत अधिक गर्मी पैदा करते हैं, जिससे शॉर्ट सर्किट भी हो सकता है। इसके अलावा, इससे अधिक आंतरिक थर्मल प्रतिक्रियाएं हो सकती हैं जिससे बैटरी फटने और आग लगने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। बैटरी तकनीक ने पिछले वर्षों में बैटरी का बहुत विकास किया है, फिर भी वे स्वाभाविक रूप से खतरनाक हैं। आकस्मिक क्षति को रोकने के लिए रिमूवेबल बैटरी को एक हार्ड प्लास्टिक कवर की आवश्यकता होती है, खासकर जब वे किसी फोन से कनेक्ट नहीं होते हैं। प्लास्टिक कवर स्मार्टफोन के वजन और साइज को बढ़ा देता है। इसलिए, इंजीनियरों ने एक नॉन रिमूवेबल बैटरी लगाने के बारे में सोचा क्योंकि कंज्यूमर स्लिमर, लाइटर डिज़ाइन की मांग कर रहे थे। उन्होंने सुनिश्चित किया कि स्मार्टफोन बैटरी की सुरक्षा करने में सक्षम होना चाहिए क्योंकि वे नॉन रिमूवेबल हैं यानी उन्हें हटाया नहीं जा सकता है।
बैटरी टैक्नोलॉजी (Battery Technology)
आधुनिक स्मार्टफोन एक बार चार्ज करने पर अधिक समय तक चलते हैं क्योंकि वे लिथियम-आयन और लिथियम-पॉलीमर बैटरी के साथ आते हैं। बैटरी सामग्री और क्षमता का यह विकास बेहतर प्रदर्शन और अधिक शक्तिशाली चिप्स के लिए बैटरी की खपत बढ़ने के बाद भी फोन को पूरे दिन चलने में मदद करता है। क्षमता में वृद्धि का अर्थ यह भी है कि उपयोगकर्ताओं को बैटरी चेंज करने की आवश्यकता नहीं होती। इसके अलावा, चार्जिंग स्पीड में भी सुधार आया है क्योंकि अधिकांश आधुनिक फोन पूरी तरह चार्ज होने में एक घंटे से भी कम समय लेते हैं।
फोन को लंबे समय गिरने और टूटने से बचाए रखने के कारण (Protect It From Wear and Tear)
स्मार्टफोन की कीमत उसमें आने वाले नए- नए फंक्शंस के साथ हर दिन बढ़ती जा रही है। इसलिए कंज्यूमर चाहते हैं कि ये डिवाइस अधिक समय तक चले और उन्हें बहुत अधिक सुरक्षा प्राप्त हो। कंज्यूमर चाहते हैं कि ये उपकरण नियमित रूप से टूट-फूट का सामना करें और कभी-कभार गिरने के बाद भी न टूटे। इसलिए, स्मार्टफोन निर्माताओं ने अपने डिवाइस को अधिक टिकाऊ बनाने के लिए बाहरी मामले को सील कर दिया है। लेकिन, कंज्यूमर्स को रिमूवेबल बैटरियों तक पहुंच खोनी पड़ी क्योंकि वे सील हो गई थीं। इसके अलावा, हटाने योग्य बाहरी मामले के साथ एक पतला और हल्का उपकरण डिजाइन करना कठिन है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source