October 3, 2022

Health Tips: क्या होता है हाइपोथाइरॉयडिज्म, एक्सपर्ट्स से जानें लक्षण और करें बचाव

wp-header-logo-413.png

Health Tips: थाइरॉयड ग्लैंड (Thyroid Gland) से जुड़ी समस्या, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक होती है। आजकल यह समस्या सभी एज ग्रुप की महिलाओं में देखने को मिल रही है। यह बीमारी दो तरह की होती है- हाइपोथाइरारॉयडिज्म (Hypothyroidism) और हाइपरथाइरॉयडिज्म (Hyperthyroidism)। इनमें हाइपोथाइरॉयडिज्म महिलाओं में होने वाली आम समस्या है। इसमें थाइरॉयड ग्रंथि, थायरॉक्सिन हॉर्मोन का उत्पादन जरूरत से कम करती है। इसलिए इसे अंडरएक्टिव थाइरॉयड रोग भी कहा जाता है। यह समस्या शरीर में आयोडीन की कमी की वजह से भी हो सकती है। मणिपाल अस्पताल के कंसल्टेंट-एंडोक्राइनोलॉजिस्ट डॉ. अभिजीत भोगराज (Dr Abhijit Bhograj) ने हरिभूमी से बातचीत करते हुए इस बीमारी के लक्षण से लेकर बचाव तक कई सारी जानकारी को शेयर किया है।
हाइपोथाइरॉयडिज्म क्या है
थाइरॉयड, तितली के आकार की एक ग्रंथि होती है, जो गले के अंदरूनी हिस्से में सामने की ओर स्थित होती है। यह एक प्रकार की एंडोक्राइन ग्लैंड है, जो हार्मोन का उत्पादन करती है। इससे निकलने वाला थाइरॉक्सिन हार्मोन, शरीर के मेटाबॉलिज्म को भी नियंत्रित करता है। जब इस हॉर्मोन का उत्पादन बहुत कम होता है, तो इसे हाइपोथाइरॉयडिज्म कहा जाता है।
रोग के लक्षण
हाइपोथाइरॉयडिज्म रोग के लक्षण महीनों या सालों में सामने आते हैं। हर व्यक्ति में इसके लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं। महिलाओं में होने वाले हाइपोथाइरॉयडिज्म के लक्षण धीरे-धीरे विकसित होते हैं। इसके लक्षण इस प्रकार के हो सकते हैं-
रिस्क फैक्टर्स
बचाव के उपाय
लेखक- शिवम चोपड़ा (Shivam Chopra)
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author