October 3, 2022

रूस के हॉलीवुड बायकॉट से इंडियन सिनेमा को बंपर फायदा, 'राधे श्याम' ने रूसी स्क्रीन्स पर मचाया धमाल

wp-header-logo-423.png

इस समय पूरी दुनिया की नजर रूस और युक्रेन (Russian Ukraine War) पर है जिनके बीच जंग लगातार जारी है। युद्ध के किसी नतीजे पर नहीं पहुंचने के कारण रूस और यूक्रेन के बीच तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। यूक्रेन लंबे समय से अपनी जमीन के लिए संघर्ष कर रहा है, जिसके परिणामस्वरूप बड़े पैमाने पर तबाही हुई है और कई नागरिकों की मौत हुई है। युद्ध के बीच, रूसी फिल्म इंडस्ट्री की इंटरनेशनल लेवल पर आलोचना की जा रही है और प्रमुख हॉलीवुड स्टूडियो ने रूस में अपनी फिल्मों की रिलीज पर रोक लगा दी है। जिसके जवाब में रूसी सिनेमाघरों ने बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर और टॉलीवुड फिल्मों को दिखाने का फैसला किया है। अब यहां सिनेमाघरों में रूसी और दक्षिण कोरियाई फिल्मों के साथ-साथ बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर भी दिखाएंगे।
रूस में की गयी राधे श्याम की विशेष स्क्रीनिंग
एक रूसी रिपोर्ट के मुताबिक प्रभास और पूजा हेगड़े-स्टारर राधे श्याम की विशेष स्क्रीनिंग रूस में की गयी थी जिसके सारे शो हाउसफुल रहे हैं। बॉलीवुड और अन्य एशियाई फिल्मों को दिखाने का यह निर्णय मुख्य रूप से कई कारणों से लिया गया है। रिपोर्ट्स की माने तो 2021 में, रूसी बॉक्स ऑफिस का 75 प्रतिशत हिस्सा विदेशी फिल्मों ने लिया है। वहीं रूस में फिल्में देखना सबसे लोकप्रिय गतिविधियों में से एक है। रूसी लोग अपने खाली समय में फिल्में देखना पसंद करते हैं।
दूसरी चीजों के दाम में बढ़ोतरी के बीच मूवी टिकट को सस्ता रखने की कोशिश
सिनेमा एक्सपर्ट एलेक्सी वास्यासिन के अनुसार, दोनों देशों के बीच युद्ध के चलते लोग घरों में ही फिल्में देखने में रूचि दिखा रहे हैं, जिसके कारण प्रोजेक्टर लैंप और दूसरी चीजों के दाम 80% तक बढ़ गए हैं। हालांकि मूवी टिकट को सस्ता रखने की कोशिश की जा रही है जो इसके दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं हो रही है। इसके अलावा सिनेमा हॉल में मिलने वाली खाने-पीने की चीजों के दामों को भी स्थिर रखा गया है।
डिज़्नी कंपनी और सोनी पिक्चर्स ने रूस का किया बायकॉट
वार्नर ब्रदर्स, वॉल्ट डिज़्नी कंपनी और सोनी पिक्चर्स ने 28 फरवरी को घोषणा की थी कि व्लादिमीर पुतिन के यूक्रेन पर आक्रमण के बाद रूस में उनकी फिल्मों को रोक दिया जाएगा। यूक्रेनी फिल्म अकादमी ने रूसी फिल्म इंडस्ट्री के ग्लोबल बायकॉट का भी आह्वान किया। कई बहिष्कारों के बाद, कान्स फिल्म फेस्टिवल ने भी यह कहते हुए घोषणा की कि वे मई में रूसी प्रतिनिधियों का स्वागत नहीं करेंगे।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author