September 25, 2022

राजस्थान के भाजपा सांसदों से मिलने से पहले पूर्व सीएम वसुंधरा राजे से मिले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

wp-header-logo-434.png

जयपुर। राजस्थान में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। कांग्रेस और बीजेपी अपनी रणनीति बनाने में जुट गई है। पिछले कुछ महीनों से बीजेपी में खींचतान की खबरें सामने आ रही थी। लेकिन अब इन खबरों पर विराम लग गया है। गुरुवार को दिल्ली में प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात मुलाकात हुई है। राजनीतिक क्षेत्रों में इस मुलाकात को बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है। सूत्रों के अनुसार, ऐसे संकेत मिले है कि वसुंधरा राजे को सीएम पद का चेहरा बनाया जा सकता है। माना जा रहा है कि पीएम मोदी ने राजे से आगामी चुनाव को लेकर चर्चा की है। पिछले कुछ महीनों से बीजेपी में चल रही अटकलों पर इस मुलाकात के बाद विराम लग गया है।
पीएम मोदी से मिली वसुंधरा राजे
पीएम मोदी कल यानी 25 मार्च को राजस्थान के बीजेपी सांसदों से मिलने वाले है। लेकिन राजस्थान के सांसदों से मुलाकात करने से पहले आज प्रधानमंत्री ने संसद भवन परिसर में राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे से मुलाकात की। दोनों के बीच करीब 25 से 30 मिनट ​तक बातचीत हुई। हालांकि अभी तक पता नहीं दोनों के बीच क्या बात हुई। लेकिन इस मीटिंग के बाद राजे काफी खुश नजर आ रही हैं। माना जा रहा है आगामी चुनाव को लेकर चर्चा हुई होगी। ऐसे संकेत भी मिल है कि राजे का एक फिर से मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाया जा रहा है।
इन मुद्दों पर हुई चर्चा
जानकारों का मानना है कि मोदी और राजे के बीच प्रदेश के राजनीतिक हालातों पर भी चर्चा हुई है। पिछले दो तीन दिनों से राष्ट्रीय राजनीति में राजे की सक्रियता अचानक बढ़ गई है। बता दें कि 8 मार्च को अपने जन्मदिन पर बूंदी में राजे ने केशोराय पाटन मंदिर में अपना जन्मदिन धार्मिक अनुष्ठान के साथ मनाया। इस मौके पर प्रदेश के कई सांसद और करीब चालीस विधायक उपस्थित रहे। राजे के शक्ति प्रदर्शन के बीच प्रधानमंत्री से मुलाकात होना महत्वपूर्ण माना जा रहा है। राजे ने राष्ट्रीय नेतृत्व को पहले ही सूचित कर दिया कि उनकी रुचि राजस्थान में ही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद माना जा रहा है कि वसुंधरा राजे की राजनीतिक सक्रियता राजस्थान में ही देखने को मिलेगी।
एक दिन पहले अमित शाह और राजनाथ से हुई मुलाकात
23 मार्च को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के शपथ ग्रहण समारोह में राजे भाजपा शासित मुख्यमंत्रियों के साथ शामिल हुई। इस दौरान राजे की पीएम मोदी के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात हुई थी। अब 25 मार्च को लखनऊ में होने वाले योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में भी राजे को आमंत्रित किया है। योगी के समारोह में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साथ भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे।
राजे को पार्टी की वरिष्ठ नेता मानते हैं पूनिया
आपको बता दें कि प्रदेश में अगले वर्ष विधानसभा के चुनाव होने हैं। ऐसे में भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व चाहता है कि भाजपा के सभी नेता एकजुट होकर काम करे। भाजपा के मौजूदा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया और संगठन महामंत्री चंद्रशेखर ने प्रदेशभर में मंडल स्तर पर भाजपा को मजबूत करने का काम पूरी मेहनत के साथ किया है। कई मौकों पर राज्य की कांग्रेस सरकार के खिलाफ आंदोलन भी किए हैं। लेकिन पूर्व सीएम वसुंधरा राजे की वजह से संगठन में खींचतान की खबरें आती रही। हालांकि की दोनों ही पक्षों में खींचतान होने से इंकार किया। डॉ. पूनिया ने हर बार यही कहा कि वसुंधरा राजे पार्टी की वरिष्ठ नेता हैं।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author