February 8, 2023

RTU में जबरदस्त बवाल! सेक्स करो तभी पास करूंगा, पोल खुलते ही टीचर की जूते से पिटाई

wp-header-logo-371.png

जयपुर। प्रदेश में एक बार फिर शिक्षक और छात्रा का रिश्ता शर्मसार हो गया है। राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी यानी RTU कैंपस में छात्र और शिक्षक के बीच की मर्यादाएं टूट गई हैं। एक छात्रा को पास करने के बदले प्रोफेसर द्वारा उसकी अस्मत मांगने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। गुस्साए छात्रों ने यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर पर अपनी भड़ास जूता फेंककर निकाली। एक छात्र ने वीसी एसके सिंह पर जूते से हमला किया तो पुलिस ने छात्रों को खदेड़ा। इसके साथ ही छात्रों ने किया यूनिवर्सिटी कैंपस में जमकर बवाल काटा। हालांकि, बाद में कोटा पुलिस ने आरोपी छात्रों को हिरासत में ले लिया।
कुलपति पर जूते से हमला
वहीं यूनिवर्सिटी कैंपस में अब भी भारी पुलिस बल तैनात है। आरटीयू परिसर में एक छात्र ने कुलपति एसके सिंह पर जूते से हमला कर दिया तो कुलपति पर हुए हमले के बाद पुलिस ने छात्र को कैंपस से खदेड़ दिया। इसके साथ ही हमलावर छात्र को हिरासत में ले लिया। छात्र को हिरासत में लेने की खबर जैसे ही कैंपस में फैली बड़ी संख्या में छात्र कैंपस की ओर दौड़ पड़े। छात्रों के भारी हुजूम को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाना पड़ा।
आयोग ने मांगी तथ्यात्मक रिपोर्ट
इस मामले में बाल संरक्षण अधिकार आयोग गंभीर नजर आ रहा है। आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने कहा कि कोटा मामला संज्ञान में आते ही जिला प्रशासन से तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। साथ ही साथ टीचर को तुंरत प्रभाव से टर्मिनेट भी करवा दिया है। इसके अलावा इन मामले में जो भी शामिल है उनकी जानकारी ले रहे है। पूरे मामले को लेकर बाल आयोग गंभीर है और तुंरत कार्रवाई की जाएगी।
25 तक पुलिस रिमांड में भेजा
कोटा आरटीयू प्रोफेसर द्वारा छात्रा से अस्मत मांगने के मामले में आरोपी प्रोफेसर गिरीश परमार और छात्र अर्पित को आज पुलिस ने न्यायालय में पेश किया। कोर्ट ने दोनों आरोपियों को 25 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर सौंप दिया दिया गया है। छात्राओं के 164 के बयान करवाए जा चुके हैं और 25 दिसंबर तक दोनों को पुलिस रिमांड पर सौंपा है। हालांकि पुलिस ने 5 दिन का रिमांड मांगा था।
छावनी में तब्दील हुआ कोर्ट परिसर
कोर्ट में पेश करने के दौरान कोर्ट परिसर को पुलिस ने छावनी में तब्दील कर दिया गया था। जब आरोपियों को पुलिस कोर्ट में पेशी के लिए लेकर पहुंची तो वहां पर पहले से ही मौजूद वकीलों ने हंगामा खड़ा कर दिया। वकील नारेबाजी करने लगे और आरोपी प्रोफेसर गिरीश परमार को थप्पड़ जड़ दिया। आरोपियों की सुरक्षा को देखते हुए कोर्ट परिसर में एडिशनल एसपी 4 थानों के सीआई सहित तीन डिप्टी सहित एसडीएफ और भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात रहा।
जानिए क्या है पूरा मामला
यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर पर छात्राओं से पास करने के बदले अस्मत मांगने का आरोप है। यूनिवर्सिटी के एसोसिएट प्रोफेसर गिरीश परमार पर आरोप है एक छात्र की मदद से एक छात्रा से परीक्षा में पास कराने के बदले अस्मत मांगी। पूरा मामला सामने आने के बाद परमार यूनिवर्सिटी ने सस्पेंड कर दिया और एक जांच कमेटी भी गठित कर दी, लेकिन छात्र इससे संतुष्ट नहीं थे। इस बीच खबर है कि छात्रा से अस्मत मांगने के मामले में आरोपी प्रोफेसर का मोबाइल जब्त कर लिया गया है।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author