December 3, 2022

Tips For Good Sleep: रात में नींद नहीं आती तो इन चीजों को डाइट से तुरंत हटाएं, स्लीप डिसऑर्डर रहेगा दूर

wp-header-logo-406.png

Food Affect Our Quality Of Sleep: हम सभी इस बात को बहुत ही अच्छे से जानते हैं कि हम जो खाना खाते हैं, इसका बहुत गहरा असर हमारे शरीर पर पड़ता है। अगर हम हेल्दी डाइट लेते हैं, तो हमारे शरीर पर अच्छा प्रभाव होता है। इसके उलट अनहेल्दी डाइट (Unhealthy Diet) से हम बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। इसके अलावा अनहेल्दी डाइट का सोने पर भी गहरा असर पड़ता है। उदाहरण के लिए अगर हम सोने से पहले अक्सर मसालेदार खाने का सेवन करते हैं, तो यह पेट संबंधी समस्याओं को पैदा कर सकता है, जिसके परिणामस्वरूप हमारी नींद की क्वालिटी खराब हो सकती है। ऐसे ही अगर हम शराब का सेवन करते हैं तो इससे मेमोरी लॉस (memory loss), स्लीपवॉकिंग (sleepwalking) और स्लीप एपनिया (sleep apnea) जैसी समस्याएं घेर सकती हैं। ऐसे में रात के समय खाने वाली चीजों का चयन बेहद अच्छा होना चाहिए।
अनहेल्दी डाइट से स्लीप डिसऑर्डर?
नींद की समस्याओं में सबसे गंभीर ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एप्निया (ओएसए) होता है। यह स्थिति बिगड़ी हुई सांस, खराब क्वालिटी वाली नींद, हृदय की स्थिति और यहां तक ​​​​कि मृत्यु का कारण बन सकती है। ओएसए के लिए सबसे बड़ा जोखिम कारक मोटापा होता है। अगर आप शराब का सेवन करते हैं तो इस बीमारी की स्थिति और बिगड़ सकती है, जबकि अल्कोहल एक रिलैक्सेंट है। यह मसल्स को आराम देता है, जिससे नींद के दौरान ऊपरी वायुमार्ग (upper airway) की रुकावट बढ़ जाती है। इसलिए ओएसए से बचने के लिए अपने खान-पान का उचित ध्यान रखना जरूरी है।
ज्यादा कैफीन के सेवन से बचें
कैफीन दिमाग में केमिकल्स के उत्पादन को रोकता है, जो नींद को नियंत्रित करता है और एड्रेनालाईन को भी बढ़ाता है। कैफीन पीने के छह घंटे बाद तक वह ब्लड फ्लो में ही रहता है। यही कारण है कि लगभग हर स्लीप गाइड कैफीन का सेवन सीमित करने का सुझाव देते हैं, खासकर दोपहर और शाम के वक्त। बता दें कि सोने से पहले शराब से बचें। शराब आपको तुरंत सो जाने में मदद कर सकती है, लेकिन यह नींद के चक्र को फिर से शुरू कर देती है। इसलिए जब आप अगली सुबह उठते हैं, तो आप थका हुआ और कम आराम महसूस करते हैं।
हैवी डिनर से बचें
सोने से पहले भारी भोजन करने से आपके शरीर को खाना पचाने में काफी समय लग सकता है। स्वस्थ नींद के लिए आपके भोजन का पचना बहुत महत्वपूर्ण है, खासकर उन लोगों के लिए जिन्हें एसिड रिफ्लक्स रोग है या जो पाचन समस्याओं से पीड़ित हैं। रात के खाने में भारी, वसायुक्त और मसालेदार भोजन खाने से बचें।
चीनी का सेवन सीमित करें
ज्यादा चीनी का सेवन सीधे आपके ब्लड शुगर लेवल को प्रभावित करता है, जो पूरे दिन आपकी एनर्जी को प्रभावित करता है। भले ही चीनी जल्दी से ऊर्जा के स्तर को बढ़ा सकती है, लेकिन उतनी ही जल्दी यह एनर्जी गिरने का कारण भी बन सकती है। इससे आपके स्लीपिंग शेड्यूल में खलल पड़ता है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author