August 14, 2022

National Parent's Day : क्यों मनाया जाता है नेशनल पेरेंट्स डे, जानिए कब हुई थी इसकी शुरुआत

wp-header-logo-435.png

माता-पिता की जगह हमारे जीवन में कोई नहीं ले सकता। धरती पर भगवान के दूसरे रूप होते हैं माता-पिता। ऐसा कहा जाता है कि भगवान धरती पर हर समय मौजूद नहीं रह सकते थे इसलिए उन्होंने माता-पिता को बनाया। वो हमारे जीवन के सबसे बड़े सपोर्ट सिस्टम होते हैं। मां-बाप हमें मुश्किलों का सामना करना सिखाते हैं। बहुत सारी दुआओं के साथ आगे बढ़ने का हौसला देते हैं। उनके इसी प्यार और आशीर्वाद को सेलिब्रेट करने के लिए हर साल पैरेंट्स डे (Parents Day) मनाया जाता है। पेरेंट्स डे हर साल जुलाई के चौथे संडे को मनाया जाता है। तो चलिए जानते हैं कि पेरेंट्स डे की शुरुआत कब हुई और आखिर इस दिन को क्यों मनाया जाता है।
पेरेंट्स डे की शुरुआत कब हुई
नेशनल पेरेंट्स डे (National Parents Day) को मनाने की शुरुआत सबसे पहले 8 मई 1973 को दक्षिण कोरिया में हुई थी। लेकिन दक्षिण कोरिया (South Korea) में ये दिन हर साल 8 जुलाई को सेलिब्रेट किया जाता है। वहीं साल 1994 में पेरेंट्स डे को ऑफिशियली मनाने की शुरुआत अमेरिका में हुई। जब अमेरिका में इस दिन को सेलिब्रेट किया गया तब उस दिन जुलाई का चौथा रविवार था। इसलिए इसके बाद इस दिन को भारत (India) और अमेरिका जैसे देशों में हर साल जुलाई के चौथे रविवार को मनाया जाने लगा। लेकिन वहीं कुछ दूसरे देशों में नेशनल पेरेंट्स डे को अलग-अलग दिन पर मनाया जाता है। जैसे फिलीपींस में दिसंबर महीने के पहले सोमवार को, रूस और श्रीलंका में 1 जून को ग्लोबल पेरेंट्स डे मनाया जाता है। तो वहीं वियतनाम में इसे 7 जुलाई को मनाया जाता है।
क्या है पेरेंट्स डे का महत्व
माता-पिता को भगवान के बराबर का दर्जा दिया गया है और ऐसा हो भी क्यों न। माता-पिता हमेशा अपने बच्चों के लिए खड़े रहते है। चाहे दुःख हो या सुख वो कभी अपने बच्चों का साथ नहीं छोड़ते। बच्चों की किसी भी चीज में कोई कमी नहीं रहने देते। सिर्फ अपने बच्चों की खुशी के लिए निःस्वार्थ भाव से सेवा करते हैं। माता-पिता अपने बच्चों के लिए वो सब करते है जो कोई और नहीं कर सकता। इसलिए माता और पिता को जीवन का सबसे बड़ा उपहार माना जाता है। उनकी जगह जीवन में कभी भी कोई नहीं ले सकता और इसलिए भी पेरेंट्स डे को मनाया जाता है।
ऐसे सेलिब्रेट करें पेरेंट्स डे
माता-पिता को खुश रखने के लिए वैसे तो कोई एक दिन नहीं हो सकता। हर बच्चें को अपने माता-पिता की खुशी का ख्याल हमेशा ही रखना चाहिए। लेकिन जब ये दिन स्पेशल उन्हीं को दिया गया है तो आप अपने पेरेंट्स के लिए उनकी ही पसंद का कुछ बनाकर उन्हें सरप्राइज दें सकते हैं। इसके अलावा अपने पेरेंट्स के साथ टाइम स्पेंड करने के लिए उन्हें कही बाहर घूमाने के लिए ले जा सकते हैं। उनकी पसंद की कोई मूवी उनके साथ देख सकते हैं या फिर उन्हें उनकी जरुरत का कोई सामान भी गिफ्ट कर सकते हैं।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author