October 3, 2022

चित्तौड़गढ़ : 3 साल की मासूम के साथ किया रेप, हत्या कर कुएं में फेंका

wp-header-logo-425.png

जयपुर। राजस्थान में महिलाओं और बच्चियों के साथ रहे दुष्कर्म के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे है। बीते कुछ सालों में राजस्थान रेप और गैंगरेप की घटनाओं में पूरे देश में पहले स्थान पर है। कांग्रेस सरकार अपराधियों पर लगाम लगाने में असफल साबित हो चुकी है। प्रदेश के चित्तौड़गढ़ में एक तीन साल की मासूम के दुष्कर्म और हत्या का मामला सामने आया है। जिले के बस्सी थाना क्षेत्र के एक गांव में अपनी मां के साथ शादी में आई एक तीन साल बच्ची को दरिंदे ने मौत के घाट उतार दिया। घटना को अंजाम देने के बाद हत्यारा वापस बारात में आकर नाचने लगा। पुलिस ने इस मामले में दुराचार और हत्या का प्रकरण दर्ज कर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया है। इस मामले में एक युवक को गिरफ्तार किया है।
ऐसे पिशाचों का समाज में कोई स्थान नहीं : वसुंधरा राजे
इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में काफी क्रोध है। प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित स्थानीय ग्रामीणों ने दुष्कर्म कर हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस और प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। इस मामले में दोषी युवक को फांसी की सजा देने की मांग की गई है। राजे ने इस घटना को लेकर ट्वीट किया, हमारी सरकार ने बच्चियों से दुष्कर्म के आरोपियों को फांसी की सजा देने का कानून बनाया था। प्रशासन से मेरा आग्रह है कि उक्त कानून का सख्ती से पालन कर दोषी को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। ताकि समाज में न्याय एवं कानून-व्यवस्था की छवि उज्ज्वल हो सके। हैवानियत की हद पार करने वाले ऐसे पिशाचों का सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं है।
https://twitter.com/VasundharaBJP?ref_src=twsrc%5Egoogle%7Ctwcamp%5Eserp%7Ctwgr%5Eauthor
बारात में आया था दरिंदा
पुलिस के अनुसार बस्सी थाना क्षेत्र के गांव में तीन वर्षीय बच्ची अपनी मां के साथ शादी में शामिल होने आई थी। गांव में एक परिवार में दो बेटियों की शादी थी। दो बारातें आने से गांव में खुशियों की धूम थी। लेकिन किसी को क्या पता था कि इन्हीं में से एक बारात के साथ एक दरिंदा भी आया है। इन्हीं खुशियों के बीच यह दरिंदा अपने शिकार की तलाश में था। उसे जैसे ही मौका मिला, उसने अपनी काली करतूत दिखा दी।
चार वर्षीय मासूम बच्चे से भी की दुराचार की कोशिश
इस दरिंगे ने पहले चार साल के मामूस को उठाकर एक किलोमीटर दूर कुएं पर ले गया था। वहां वह मासूम से दुराचार करने लगा। मासूम चिल्लाने लगी तो दरिंदे ने जगह-जगह उसे काट खाया। इससे मासूम और जोर-जोर से रोने लगा। इसी बीच लोगों के आहट से डरकर वह सहम गया और बालक को वापस शादी स्थल पर लाकर छोड़ दिया।
तीन साल की मासूम से दुराचार और हत्या
इतना कुछ करने बाद भी योन-पिपासा का मन शांत नहीं हुआ। वह मां के पास सोती एक तीन साल की मासूम को चुपके से उठाकर उसी कुएं पर ले गया। दरिंदे ने उस मासूम बच्ची को चेहरे, कान और शरीर पर सात-आठ जगह काट खाया। दुराचार के बाद गला दबाकर मार डाला और शव उसी कुएं में फेंककर वापस शादी में शामिल हो गया। शादी में नाचकर खुशियां मनाईं और फिर बारात के साथ वापस अपने गांव लौट गया। जब बच्ची नहीं मिली तो परिजनों और ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी।
आरोपी ने कबूला गुनाह
सभी ने मिलकर बच्ची को तलाशना शुरू किया। इसी बीच पुलिस पूछताछ में पता चला कि बच्ची तो भीलवाड़ा के बीगोद क्षेत्र के किशनपुरा निवासी बाराती रामेश्वर धाकड़ के साथ नजर आई थी। इस पर कुछ ग्रामीण किशनपुरा पहुंचे और उसे लेकर आए। पहले तो वह गुमराह करता रहा, लेकिन जब पुलिस ने सख्ती की तो उसने वारदात करना कुबूल कर लिया।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author