October 4, 2022

राजस्थान का बजट : 1 लाख पदों पर होगी भर्ती, 50 यूनिट बिजली मुफ्त मिलेगी

wp-header-logo-442.png

जयपुर।  सीएम अशोक गहलोत बुधवार को विधानसभा में राजस्थान का वर्ष 2022-23 का बजट पेश किया। बजट में सीएम गहलोत ने शिक्षा और स्वास्थ्य पर खासा फोकस किया है। दोनों ही क्षेत्रों के लिये बड़ी घोषणायें की गई हैं। वहीं बिजली को लेकर भी सीएम गहलोत ने बड़ी घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने अपने बजट में कई बड़ी घोषणाएं की हैं। उन्होंने रोजगार शहरों में रोजगार इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना लागू करने की घोषणा की है। अगले साल से शहरी क्षेत्रों में मनरेगा की तर्ज पर मांगे जाने पर 100 दिन का रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही 1 करोड़ 33 लाख महिलाओं को स्मार्ट फोन देने और कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की भी घोषणा की है।
युवा और रोजगार
रीट परीक्षा जुलाई 2022 में होगी। पुराने अभ्यर्थियों को फीस नहीं देनी होगी। पहले की तरह ही मुफ्त यात्रा और सुविधाएं मिलेंगी। अगले साल सरकारी विभागों में 1 लाख पदों पर भर्तियां होंगी। मुख्यमंत्री वर्क फ्रॉम होम योजना लागू होगी, इसके तहत 20 हजार महिलाओं को घर बैठे रोजगार दिया जाएगा। CISF की तर्ज पर RISF के गठन की घोषणा। इसके तहत 2000 हजार सुरक्षाकर्मियों की भर्ती होगी। इनकी तैनाती रीको जैसे इंडस्ट्रियल एरिया में की जाएगी। राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना 2022 शुरू करने की घोषणा।
50 यूनिट मुफ्त बिजली
सीएम गहलोत का बिजली को लेकर बड़ा ऐलान। 50 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाएगी। सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट तक 3 रुपए और 150 से 300 यूनिट तक 2 रुपए और इससे ऊपर के कंज्यूमर को भी स्लैब के हिसाब से लाभ दिया जायेगा। इस पर 4000 करोड़ का खर्च होगा।
किसानों को लिए खोला पिटारा
सीएम ने किसानों के लिए खोला घोषणाओं का पिटारा। जैविक खेती के प्रोत्साहन के लिए 600 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। लघु एवं सीमांत किसानों के लिए 20 करोड़ रुपए प्रावधान किया। निशुल्क बीज उपलब्ध कराने के लिए 30 करोड़ रुपए की घोषणा की। बजट में सीएम ने मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना की राशि 2000 करोड़ से बढ़ाकर 5000 करोड़ करने की घोषणा की। खेती के लिए सूक्ष्म सिंचाई योजना पर विशेष मिशन चलाया जायेगा।
200 नए प्राइमरी स्कूल और 36 गर्ल्स कॉलेज खुले जाएंगे
बजट में सीएम ने ऐलान किया कि 19 जिलों में 36 गर्ल्स कॉलेज खुले जाएंगे। 3800 सेकंडरी स्कूल सीनियर सेकंडरी में क्रमोन्नत करने का ऐलान किया। इसके अलावा रेगिस्तानी जिलों में 200 नए प्राइमरी स्कूल खोले जाएंगे।
ओलंपिक पदक विजेताओं देंगे जमीन
जेएलएन मार्ग जयपुर की शिक्षण संस्थाओं को मिलाकर एजुकेशन हब बनेगा। पोद्दार स्कूल, राधाकृषण लाइब्रेरी एजुकेशन हब के हिस्से होंगे। पैरा ओलंपिक पदक विजेताओं को भी ओलंपिक पदक विजेताओं की तरह ही जमीन और दूसरी सुविधाएं दी जाएंगी।
5000 नए डेयर बूथे खोलने की घोषणा
बजट में सीएम अशोक गहलोत ने प्रदेश में 5000 नए डेयरी बूथ खोलने का ऐलान किया है। इन डेयरी बूथों के आवंटन में महिलाओं को प्राथमिकता दी जायेगी। वहीं पशु आहार की गुणवत्ता की जांच के लिए प्रत्येक जिले में लैब खोली जाएगी।
स्वास्थ्य
सीएम गहलोत ने कहा कि चिरंजीवी स्वास्थ्य योजना में 10 लाख तक का कवर मिलेगा। कॉकलियर इंप्लांट सहित कई गंभीर बीमारियां भी जोड़ी। जरूरतमंद व्यक्तियों का कलेक्टर चिरंजीवी स्वास्थ्य कार्ड के बिना भी फायदा दिला सकेंगें। सरकारी अस्पतालों में आउटडोर और इनडोर में हर तरह का इलाज कैशलेस, कोई पैसा नहीं लगेगा। मुख्यमंत्री चिरंजीवी दुर्घटना बीमा की घोषणा, 5 लाख तक का एक्सीडेंट कवर मिलेगा। अगले साल 18 जिलों में नर्सिंग कॉलेज खुलेंगे। सभी जिलों में नर्सिंग कॉलेज होंगे। एसएमएस अस्पताल, जयपुर में 5 नए विभाग, रोबोटिक सर्जरी शुरू होगी। इसके लिए 300 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
उद्योग
पचपदरा में 383 वर्ग किलोमीटर पेट्रोकेमिकल इंवेस्टमेंट रीजन बनेगा, इसके विकास के लिए 1000 करोड़ खर्च होंगे। सीआईएसएफ की तर्ज पर राजस्थान इं​डस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स आरआईएसएफ का गठन होगा, इस पर 2000 भर्तियां होंगी। अब एमएसएमई सेक्टर के उद्योगों को 5 साल तक किसी तरह की सरकारी मंजूरी की जरूरी नहीं होगी, यह अवधि पहले 3 साल थी।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author