January 27, 2023

Chronic Diseases क्या है? जानिए हमारे लिए कितनी जानलेवा और कैसे करें इस बीमारी से बचाव

wp-header-logo-375.png

What Is Chronic Diseases: आजकल के समय में क्रोनिक डिजीज (Chronic Diseases) नाम का शब्द बहुत ही ज्यादा ट्रेंड में चल रहा है। आपने अक्सर टीवी और सोशल मीडिया (Social Media) आदि के माध्यम से क्रोनिक डिजीज के बारे में जरूर सुना होगा। लेकिन सवाल ये उठता है कि क्रोनिक डिजीज असल में है क्या चीज? दरअसल, क्रोनिक डिजीज वह बीमारियां होती हैं, जो 1 साल या उससे अधिक समय तक चलती हैं। इन बीमारियों को निरंतर चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता होती है। एक स्टडी के मुताबिक विश्वभर में हृदय रोग, कैंसर और मधुमेह जैसी पुरानी बीमारियां मृत्यु और विकलांगता के प्रमुख कारण बनती हैं। आज की इस खबर में हम आपको क्रोनिक डिजीज के बारे में सभी अहम बातें बताएंगे।
यहां देखिये किन कारणों से आप हो सकते हैं क्रोनिक डिजीज के शिकार:-
तम्बाकू और शराब आदि चीजों का सेवन
डाइट में पोषक तत्वों की कमी
फिजिकली मेहनत कम करना
एक्सरसाइज ना करना आदि।
क्रोनिक डिजीज को रोकने के लिए घरेलू उपाय:-
कई क्रोनिक बीमारियां बिगड़े लाइफस्टाइल के कारण होती हैं। अगर आप स्वस्थ विकल्पों को अपनाते हैं, तो आप इन बीमारियों के होने की संभावना को कम कर सकते हैं।
अगर आप सिगरेट पीते हैं तो आपको धूम्रपान बंद कर देना चाहिए। धूम्रपान गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं, जैसे हृदय रोग, कैंसर, टाइप 2 डायबिटीज और फेफड़ों की बीमारी को न्योता देता है। इसके साथ-साथ समय से पहले मृत्यु का जोखिम भी बढ़ जाता है।
स्वस्थ भोजन हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह और अन्य पुरानी बीमारियों को रोकने में मदद करता है। एक संतुलित, स्वस्थ आहार पैटर्न में कई तरह के फल, सब्जियां, साबुत अनाज, प्रोटीन और कम वसा वाले डेयरी प्रोडक्ट शामिल होते हैं। इस तरह के हेल्दी डाइट से आप अतिरिक्त शर्करा (Sugar), संतृप्त वसा (Saturated Fat) और सोडियम (Sodium) को सीमित करते हैं। अगर आप ज्यादा वजन वाले हैं, तो वजन में 5% से 7% कमी से टाइप 2 मधुमेह को रोकने में या बैलेंस करने आपको मदद मिल सकती है।
रेगुलर फिजिकल एक्टिविटी आपको क्रोनिक बीमारियों को रोकने या सुधारने में मदद करती है। हफ्ते में कम से कम 150 मिनट के लिए मॉडरेट इंटेंसिटी वाली शारीरिक गतिविधि करने का लक्ष्य रखें। हफ्ते में 2 दिन मांसपेशियों को मजबूत करने वाली एक्सरसाइज करना बहुत जरुरी है।
शराब पीने से उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure), कैंसर (Cancer), हृदय रोग (Heart Diseases), स्ट्रोक (Stroke) और लिवर रोग (Liver Diseases) हो सकते हैं। बहुत अधिक न पीने से आप इन स्वास्थ्य जोखिमों को कम कर सकते हैं।
क्रोनिक बीमारियों को रोकने या उन्हें जल्दी पकड़ने के लिए डॉक्टर से मिलें और सभी अहम टेस्ट करवाएं।
नींद पूरी ना करने को मधुमेह (Diabetes), हृदय रोग (Heart Diseases), मोटापा (Obesity) और अवसाद (Depression) के बढ़ने से भी क्रोनिक रोगों के होने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में वयस्कों को रोजाना कम से कम 7 घंटे की नींद लेनी चाहिए।
अगर आपके पास कैंसर, हृदय रोग, मधुमेह, या ऑस्टियोपोरोसिस जैसी क्रोनिक बीमारियों का पारिवारिक इतिहास रहा है, तो आप में भी ये बीमारी विकसित होने की संभावना बढ़ जाती है। अपने परिवार के स्वास्थ्य इतिहास को अपने डॉक्टर के साथ साझा करें, जो इन स्थितियों को रोकने में आपकी मदद कर सकते हैं।
© Copyrights 2023. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author