December 3, 2022

रोज भाजपा को कोसने के बजाय प्रदेश में जारी जंगलराज की सुध लें गहलोत सरकार : वसुंधरा राजे

wp-header-logo-384.png

जयपुर। राजस्थान के राजसमंद जिले के देवगढ़ की हीरा ग्राम पंचायत की बस्ती में मंदिर विवाद के चलते एक पुजारी दंपत्ति को जिंदा जलाने का मामला लगातार तूल पकड़ रहा है। अब मामले को लेकर बीजेपी प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार पर हमलावर हो गई है। कई विपक्षी नेता कांग्रेस सरकार पर जमकर हमला बोल रहे हैं। सूबे की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि रोजाना बीजेपी को कोसने के बजाय गहलोत सरकार को प्रदेश में जारी जंगलराज की सुध लेनी चाहिए। राजे के अलावा प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष सतीश पूनिया के अलावा राजसमंद से बीजेपी सांसद दीया कुमारी ने भी घटना की निंदा करते हुए इसे गहलोत सरकार के लिए शर्मनाक करार दिया है।
राजस्थान अब अपराध का अड्डा बन गया
प्रदेश मेें बढ़ते अपराधों के मुद्दे पर बीजेपी ने गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।राजसमंद में पुजारी दंपत्ति को जिंदा जलाने के मामले में वसुंधरा राजे ने कहा, राजस्थान में अपराधियों को पनाह दी जा रही है। बीते कुछ सालों से प्रदेश में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रही है। अब मंदिरों में भी पुजारी सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि तीन साल पहले तक शांति प्रदेश के रूप में पहचान रखने वाला राजस्थान अब अपराध का अड्डा बन गया है। यहां आए दिन हत्या, बलात्कार व डकैती जैसी घटनाएं सामने आ रही हैंं, जिनसे राज्य की छवि धूमिल हो रही है।
वसुंधरा राजे ने लिखा- प्रदेश में जारी जंगलराज की सुध लें कांग्रेस
राजे ने ट्वीट कर गहलोत सरकार पर निशाना साधा। राजस्थान अपराध के मामले में पहले पायदान पर है। कानून व्यवस्था को लेकर निशाने साधते हुए कहा कि गहलोत सरकार आमजन को सुरक्षा नहीं दे पा रही है। उन्होंने लिखा, पिछले 4 सालों से राजस्थान में जघन्य अपराधों की एक शृंखला बन गई है। इसका ताज़ा और निंदनीय उदाहरण देवगढ़ (राजसमंद) की घटना है जहां बुजुर्ग पुजारी दंपति को जिंदा जलाया गया। राजे ने आगे लिखा कि रोज भाजपा को कोसने के बजाय गहलोत सरकार को प्रदेश में जारी जंगलराज की सुध लेनी चाहिए।
पिछले 4 सालों से राजस्थान में जघन्य अपराधों की एक शृंखला बन गई है। इसका ताज़ा और निंदनीय उदाहरण देवगढ़ (राजसमंद) की घटना है जहां बुजुर्ग पुजारी दंपति को जिंदा जलाया गया।
रोज़ भाजपा को कोसने के बजाय गहलोत जी को प्रदेश में जारी जंगलराज की सुध लेनी चाहिए।#Rajasthan #Deogarh pic.twitter.com/5gi2F3Pmj9
— Vasundhara Raje (@VasundharaBJP) November 21, 2022

दोषियों के खिलाफ तुरंत और कड़ी कार्रवाही की मांग
राजसमंद के देवगढ़ में पुजारी दंपती को जिंदा जला देने की घटना मानवता को शर्मसार करने वाली है। बदमाशों द्वारा घटना को अंजाम देकर फरार हो जाना प्रदेश के लचर कानून व्यवस्था का जीता-जागता प्रमाण है। राजे ने कहा कि बदमाशों के बुलंद हौसलों व प्रशासन की संवेदनहीनता के कारण ही भरतपुर, जयपुर, अजमेर और अब राजसमंद में ऐसी घटनाएं हो रही है। अपराधियों का गढ़ बना चुके प्रदेश में ना महिलाएं, ना व्यापारी और ना ही पुजारी सुरक्षित हैं। उन्होंने मांगी की है कि सरकार इस मामले में दोषियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करे।
दंपती 80 फीसदी तक झुलसा
बता दें कि राजसमंद में रविवार देर रात बुजुर्ग दंपती को जिंदा जलाने के लिए पेट्रोल बम से हमला कर दिया गया। इस हमले में पुजारी व उसकी पत्नी 80 फीसदी तक झुलस गए। दोनों को पुलिस ने अस्पताल पहुंचाया, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। जानकारी के मुताबिक रविवार देर रात पुजारी परिवार की दुकान में पेट्रोल बम फेंक कर आग लगा दी गई। पुलिस ने इस मामले में 8 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। इस विवाद में पुलिस की लापरवाही भी सामने आई है। पुजारी के बेटे का कहना है कि चौकी में पहले ही शिकायत की थी।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author