September 25, 2022

Knowledge News : दूसरे वाहनों की तरह हवाई जहाज में भी होता है हॉर्न, जानें कब-कहा और किस स्थिति में बजाते हैं पॉयलेट

wp-header-logo-481.png

हर वाहन में चाहे वो बाइक हो या कार, स्कूटर हो या फिर कोई और वाहन सबमें आपको हॉर्न जरूर लगा हुआ मिलता है। हॉर्न एक वाहन का सबसे जरूर पार्ट होता है। क्योंकि इसी से लोग गाड़ी चलाते समय दूसरों को सतर्क करते हैं। ताकि कोई गाड़ी के आगे न आ जाए और घायल न हो जाए। यहां तक कि ट्रेन में भी आपको हॉर्न सुनाई देता है। जब भी ट्रेन प्लेटफॉर्म पर आने वाली होती है उस समय भी हॉर्न बजाया जाता है। ताकि अगर कोई यात्री प्लेटफॉर्म के करीब हो तो उससे उचित दूरी बना ले। रेल और सड़क के मामलों में तो हॉर्न की बात समझ आती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि फ्लाइट में भी हॉर्न लगे हुए होते हैं। पर सोचने वाली बात ये है कि क्या आसमान में भी कभी हॉर्न की जरूरत होती होगी। तो चलिए आज हम आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।
कब होता है फ्लाइट में हॉर्न का इस्तेमाल
सबसे पहले तो आपको बता दे कि फ्लाइट में लगे हॉर्न का इस्तेमाल किसी दूसरे हवाई जहाज को रास्ते से हटाने के लिए नहीं किया जाता। इसका कारण ये है कि एक ही रूट में एक साथ आमने-सामने से दो या उससे ज्यादा फ्लाइट के आने की संभावना नहीं रहती है। यहां तक कि प्लेन में लगे हॉर्न का इस्तेमाल पंछियों को हटाने के लिए भी नहीं किया जाता। दरअसल फ्लाइट में लगे हॉर्न का इस्तेमाल ग्राउंड इंजीनियर और स्टाफ के साथ संपर्क साधने और उन्हें खतरे के बारे में बताने के लिए किया जाता है। अगर उड़ान से पहले फ्लाइट में कोई खराबी आ जाए या फिर कोई इमरजेंसी की स्थिति बन जाए तो उस समय प्लेन के अंदर बैठे हुए पायलट या इंजीनियर इस हॉर्न को बजाकर ग्राउंड इंजीनियर को अलर्ट मैसेज भेजते हैं।
कहां लगा होता है हॉर्न
अब आपको बता दें कि इस हॉर्न का बटन प्लेन के कॉकपिट पर होता है। यह कॉकपिट के कंट्रोल में बाकि बटनों की तरह ही होता है, इसलिए इस बटन को ढूंढना थोड़ा मुश्किल होता है। इस बटन के ऊपर जीएनडी लिखा होता है। इस बटन को दबाने पर फ्लाइट का अलर्ट सिस्टम चालू हो जाता है और उसमें से साइरन जैसी आवाज निकलती है। फ्लाइट में हॉर्न लैंडिंग गियर के कम्पार्टमेंट में लगा होता है।
कैसे बजता है हॉर्न
सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात तो यह है कि हवाई जहाज में ऑटोमैटिक हॉर्न भी लगे होते हैं जो सिस्टम में खराबी आने पर या फिर आग लगने पर अपने आप बज जाते हैं। लेकिन इसकी खास बात यह है कि इन हॉर्न की आवाज भी अलग होती है। जो अलग-अलग सिस्टम में आई खराबी के अनुसार अलग-अलग आवाज में बजते है। इनकी अलग-अलग आवाज से एयरक्राफ्ट इंजीनियर यह पता लगा पाते हैं कि फ्लाइट के किस हिस्से में खराबी आई है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author