May 23, 2022

अब 300 नहीं, 50 रुपए में दोबारा दे सकेंगे लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस के लिए टेस्ट, जानिए क्यों लागू की गई यह व्यवस्था

wp-header-logo-382.png

लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस
भोपाल। मध्यप्रदेश में लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट के दौरान यदि आप पहली बार फेल हो जाते हैं, तो सिर्फ 50 रुपए खर्च कर फिर से टेस्ट दे सकेंगे। वर्तमान में इसके लिए 300 रुपए फीस जमा करनी होती है। बता दें, परिवहन विभाग की ओर से पिछले साल लर्निंग लाइसेंस व्यवस्था आॅनलाइन कर दी है। इसके साथ टेस्ट में पूछे जाने वाले सवालों की संख्या भी बढ़ा दी है। ऐसे में बड़ी संख्या में आवेदक फेल हो जाते है। जिन पर अधिक आर्थिक बोझ ना पड़े इसलिए परिवहन विभाग यह व्यवस्था लागू करने जा रहा है। कुछ जिलों में इस योजना को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया था। जो काफी सफल रही है।
परिवहन जल्द शुरू करने यह सुविधा
सूत्रों के अनुसार परिवाहन विभाग जल्द ही यह सुविधा शुरू कर सकता है। अब जो आवेदक टेस्ट में फेल हो जाएंगे, उन्हें 50 रुपए फीस देकर सात दिन बाद ही टेस्ट देने का मौका मिल सकेगा। वर्तमान में जो आवेदक फेल होते हैं, उन्हें एक महीने बाद ही फिर से आवेदन कर टेस्ट देने का मौका मिल पाता है। गौरतलब है कि पिछले वर्तमान में लर्निंग लाइसेंस के लिए 300 रुपए देनी होती है। ऐसे में यदि आवेदक एक बार भी टेस्ट में फेल हो जाता है, तो उसे फिर से 300 रुपए देना पड़ते हैं। जिससे उस पर डबल मार पड़ती है। परिवहन विभाग अब आवेदकों की इस परेशानी को देखते हुए, अब इस फीस को जहां 50 रुपए करने जा रहा है। साथ ही अब फेल होने के सात दिन बाद ही टेस्ट देने की सुविधा मिल सकेगी। इस योजना को लेकर विभाग की ओर से तैयारी की जा रही है। जिसको लेकर स्मार्ट चिप कंपनी को भी अपने सॉफ्टवेयर में परिवर्तन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।
आवेदक हो जाते है टेस्ट में फेल
-अभी टेस्ट में फेल होने के एक माह बाद दोबारा करना पड़ा है आवेदन।
– नई योजना के तहत सात दिन बाद दे सकेंगे टेस्ट ।
– रोजना 150 से अधिक लार्निंग लाइसेंस बनते है।
– 30 प्रतिशत आवेदक हो जाते है टेस्ट में फेल
इनका कहना है
यह सुविधा अभी कुछ जगहों पर पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की गई थी। जोकि काफी सफल रही है। अब इस योजना को जल्द ही प्रदेशभर में लागू किया जाएगा।
संजय तिवारी , आरटीओ भोपाल
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source