January 27, 2023

Republic Day 2023 : जानिए कौन हैं ले. कमांडर दिशा अमृत, जो इस बार गणतंत्र दिवस पर Indian Navy की परेड को करेंगी लीड

wp-header-logo-346.png

गणतंत्र दिवस (Republic Day) आने वाला है। जिसकी तैयारियां इस समय जोरों-शोरों से चल रही हैं। वायु सेना, थल सेना और नौसेना की मार्चिंग कंटिंजेंट परेड के लिए जमकर मेहनत करते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस बार गणतंत्र दिवस के आयोजन में भारतीय नौसेना के बटालियन को कर्तव्य पथ पर लेफ्टिनेंट कमांडर दिशा अमृत (Lt Commander Disha Amrith) लीड करेंगी। लेफ्टिनेंट कमांडर दिशा इस परेड में नेवी के 144 नौसैनिकों की टुकड़ी को लीड करती हुई दिखेंगी।
बीते शुक्रवार को नौसेना ने अपनी परेड का अनावरण करते हुए बताया था कि इस बार के परेड में देश की रक्षा करने वाले बल में नारी सशक्तिकरण की झलक दिखेगी। वहीं दिशा का नौसेना कंटिंजेंट को लीड करना भी एक नारी शक्ति का एक बड़ा उदाहरण है। दिशा ​​के अलावा नौसेना के कंटिंजेंट में एक अन्य महिला अधिकारी सब लेफ्टिनेंट वल्ली मीना एस भी तीन प्लाटून कमांडरों में शामिल होंगी।
पहले भी हिस्सा ले चुकीं हैं दिशा
लेफ्टिनेंट कमांडर दिशा अमृत ने बताया कि वह साल 2008 में गणतंत्र दिवस की परेड में हिस्सा ले चुकी हैं। उस समय वह NCC जूनियर विंग की एक कैडेट थी। दिशा ने इसके बाद आगे बताया कि उन्होंने उसी समय से यह सपना देख लिया था कि वह भी एक दिन गणतंत्र दिवस की इस परेड में अधिकारी के तौर पर भाग लेंगी। अब दिशा अमृत के बचपन का यह सपना पूरा होने जा रहा है। दिशा ने कहा बात करते हुए कहा कि मैं 2008 के बाद से, सशस्त्र बलों का हिस्सा बनकर गणतंत्र दिवस परेड का हिस्सा बनने का सपना देख रही थी। यह अद्भुत अवसर है जो भारतीय नौसेना ने मुझे नौसैन्य दल का नेतृत्व करने के लिए दिया।
This is a lifetime opportunity for me…I’m proud of the fact that I am able to show what I can do & be at par with my male counterparts in Indian Navy. I look at this as a strength, not a challenge: Lt Commander Disha Amrith, Indian Navy’s 2023 R-Day parade contingent commander pic.twitter.com/zYOMqXw0Ic
कौन हैं लेफ्टिनेंट कमांडर दिशा अमृत

बता दें कि लेफ्टिनेंट कमांडर दिशा कर्नाटक के BMS कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से कंप्यूटर विज्ञान में इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट हैं। वो मैंगलुरु की रहने वाली हैं। दिशा साल 2016 में नौसेना में भर्ती हुई थीं। फिर साल 2017 में अपनी ट्रेनिंग पूरा करने के बाद वो अंडमान निकोबार द्वीप समूह पर नौसेना कमांड में तैनात हो गई। दिशा नौसेना के डोर्नियर विमान की एविएटर हैं।
सेना का हिस्सा बनने की प्रेरणा के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि वह हमेशा से ही सशस्त्र बलों का हिस्सा बनना चाहती थीं। उनके माता-पिता ने भी उन्हें इसके लिए प्रेरित किया। दिशा के पापा भी सशस्त्र बलों का हिस्सा बनना चाहते थे, लेकिन नहीं बन सके। दिशा को नौसेना का हिस्सा होने पर गर्व है। दिशा ने कहा कि वो पूरे जोश और समर्पण के साथ नौसेना में सेवा करना जारी रखेंगी।
© Copyrights 2023. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author