May 28, 2022

7 महीने बाद कोरोना से एक दिन में 15 मौतें, 16 हजार से ज्यादा पॉजिटिव

wp-header-logo-489.png

जयपुर। देशभर में महामारी कोरोना वायरस का कहर जारी है। राजस्थान में शुक्रवार को भी तीसरी लहर में सबसे ज्यादा मौतें हुईं और सबसे ज्यादा मरीज सामने आए। 7 महीने बाद प्रदेश में 15 मौत हुईं। वहीं 16 हजार 878 नए पॉजिटिव मिले। इससे पहले जून में 25 मौत हुई थी। 16 हजार 878 में से 4035 केस जयपुर में मिले। वहीं 15 लोगों की जान गई थी। उनमें से तीन 3 जयपुर के थे। यानी हर चौथा मरीज और पांचवां मरने वाला जयपुर से हैं। जयपुर में मुरलीपुरा 125 केस, मानसरोवर 121 केस, वैशाली नगर 105 केस और निवारू 105 मामले दर्ज किए गए है।
जयपुर में मृतकों की संख्या सबसे ज्यादा
मरने वालों की बात की जाए तो जयपुर में 3, अजमेर-बीकानेर में 2-2 मरीजों ने दम तोड़ दिया। 8 जिलों बाड़मेर, भरतपुर, दौसा, नागौर, पाली, राजसमंद, सीकर, टोंक में 1-1 पॉजिटिव मरीज की मौत रिकॉर्ड हुई। प्रदेश में कोविड पॉजिटिव मरीजों की मौत का आंकड़ा लगातर बढ़ता जा रहा है। बुधवार को 12, गुरुवार को 13 मौतें हुई थी। कोरोना की तीसरी लहर में 4 जनवरी से 21 जनवरी तक 95 मौतें हो चुकी हैं। शुक्रवार को 10 हजार 175 मरीज ठीक हुए। एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 84 हजार 787 पहुंच गई है।
जयपुर में 4035, जोधपुर में 2222 नए केस
शुक्रवार को अजमेर में 657, अलवर में 1371, बांसवाड़ा में 115, बारां में 140, बाड़मेर में 298, भरतपुर में 898, भीलवाड़ा में 396, बीकानेर में 386, बूंदी में 81, चित्तौड़़गढ़ में 682, चूरू में 243 केस मिले। इसी तरह दौसा में 77, धौलपुर में 89, डूंगरपुर में 439, गंगानगर में 200, हनुमानगढ़ में 311, जयपुर में 4035, जैसलमेर में 94, जालोर में 59, झालावाड़ में 202, झुंझुनूं में 185, जोधपुर में 2222, करौली में 123, कोटा में 594 रोगी मिले। वहीं नागौर में 315, पाली में 504, प्रतापगढ़ में 316, राजसमंद में 156, सवाईमाधोपुर में 211, सीकर में 285, सिरोही में 129, टोंक में 208, उदयपुर में 857 नए केस सामने आए।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source