January 29, 2023

जोधपुर गैस त्रासदी: वसुंधरा राजे ने ‘भूंगरा’ गांव को लिया गोद, तबाही का मंजर देख हुईं भावुक

wp-header-logo-326.png

जयपुर। प्रदेश के जोधपुर जिले के शेरगढ़ के भूंगरा गांव में 8 दिसंबर को शादी के दौरान सिलेंडर ब्लास्ट त्रासदी के बाद मृतकों के परिजनों से मिलने के लिए नेताओं का जमावड़ा लगा हुआ है। इसी कड़ी में मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भूंगरा गांव पहुंचकर गैस त्रासदी में हुए मृतकों के परिवारों से मुलाकात की। वहीं राजे ने एक 5 सदस्यों वाली कमेटी का भी गठन किया है जो पूरी त्रासदी में हुए नुकसान को लेकर 10 दिन में पूर्व मुख्यमंत्री को रिपोर्ट देगी और इसके बाद पूरे गांव का फिर से जीर्णोद्धार किया जाएगा।
भूंगरा दुखांतिका के पीड़ित परिवारों को लिया गोद
पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे ने मंगलवार को शेरगढ़ तहसील के देचू थाना क्षेत्र में स्थित भूंगरा गांव में हुए गैस सिलेंडर ब्लास्ट हादसे में जान गंवाने वाले मृतकों के परिवार से मुलाकात की। पीड़ित परिवार के लोगाें को सांत्वना दी। राजे ने गांव पहुंचते ही घर देखा और हादसे के पीड़ित परिवारों को गोद लेने का ऐलान किया. वहीं राजे ने कहा कि वह त्रासदी से प्रभावित लोगों के भोजन, घर और बच्चों की शिक्षा व सामाजिक ज़िम्मेदारी भी उठाएंगी। वहीं शोक सभा में परिवारजनों को विश्वास दिलाते हुए कहा कि मैं इस दुख की घड़ी में पूरे परिवारों के साथ हूं।
जोधपुर के भूंगरा गांव पहुंचकर इस वीभत्स त्रासदी से पीड़ित परिवारजनों से मुलाकात की। इस दौरान दिवंगतों की आत्मा की शांति के लिए कामना की। इस हादसे में जिन लोगों ने अपनों को खोया है, उनका दुःख शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।#Jodhpur #JodhpurCylinderBlast pic.twitter.com/qEcOwwtfC1
— Vasundhara Raje (@VasundharaBJP) December 20, 2022

पूर्व CM वसुंधरा राजे ने मदद का किया ऐलान
इस अवसर सूबे की पूर्व सीएम ने कहा कि यह हादसा बहुत भयानक हादसा था। इसमें कई लोगों की जान गई है। उन्होंने कहा कि हादसे से हम लोग स्तब्ध हैं। उन्होंने कहा कि इस हादसे में पीड़ित परिवारों को गोद लिया है। सबसे पहले उनके भोजन की व्यवस्था वह करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों के साथ साथ गांव का कितना भला हो सकता है उस पर भी वे काम करेंगे।
पूर्व CM बोली-गैर जिम्मेदारों पर हो सख्त कार्यवाही
भूंगरा में हुई त्रासदी का वसुंधरा राजे ने निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को पीड़ितों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाने और गैर जिम्मेदारों के प्रति सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए। इसके बाद राजे ने महात्मा गांधी अस्पताल पहुंचकर घायल मरीजों से कुशलक्षेम पूछी। साथ ही मरीजों के परिजनों से फीडबैक लिया। अस्पताल अधीक्षक डॉ राजश्री बेहरा और चिकित्सकों ने राजे को मरीजों के इलाज के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
5 सदस्यों वाली कमेटी का गठन
वसुंधरा ने बताया कि मैंने गांव में 5 लोगों को छोड़ा है, जो इस हादसे में पीड़ित लोगों की आवश्यकताओं की जानकारी एकत्रित करेंगे। इसमें पूर्व विधायक बाबूसिंह राठौड़, पूर्व जिला अध्यक्ष भोपाल सिंह बड़ला, बीजेपी नेता अर्जुन सिंह जी उचियारड़ा और भगवान सिंह तेना को शामिल किया गया है जो पूरी त्रासदी में हुए नुकसान को लेकर 10 दिन में पूर्व मुख्यमंत्री को रिपोर्ट देंगे और इसके बाद पूरे गांव का जीर्णोद्धार करने के लिए कदम उठाया जाएगा।
सचिन पायलट का बड़ा बयान, कहा गहलोत सरकार ने की गलती
वहीं सचिन पायलट जोधपुर रेलवे स्टेशन से सीधा भूंगरा गांव पहुंचे और सिलेंडर ब्लास्ट के पीड़ित परिवार को ढ़ांढस बंधाया। इसके साथ ही उन्होंने आर्थिक सहायता के लिए सरकार से मदद की मांग की। अब सचिन पायलट का भी ये कहना कि मुआवजा कम है। इस मुद्दे पर बयानबाजी को और तेज करेगा।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author