September 25, 2022

Diet Chart: हेल्थ मेंटेन करने के लिए टीनएज बच्चियों की डाइट में ऐड करें ये चीजें, जानिए एक्सपर्ट्स की राय

wp-header-logo-453.png

Teenagers Diet Plan: ग्रोइंग एज में अगर बेटियां बैलेंस्ड डाइट (Balance Diet Plan) लें तो भविष्य में भी वे हेल्दी रहेंगी। उनकी डाइट कैसी हो, इस बारे में एनसीआर की सीनियर डाइटीशियन स्वाति अग्रवाल ने बहुत यूजफुल सजेशंस दिए है। उन्होंने कहा कि अच्छे खान-पान की जरूरत तो हर उम्र में होती है लेकिन टीनएज से गुजर रही यानी ग्रोइंग एज की बेटियों की डाइट का खासतौर पर ध्यान रखना चाहिए। दरअसल, इस उम्र में उनके खान-पान में की गई लापरवाही, आगे चलकर कई परेशानियों का कारण बन सकती है। मसलन, खान-पान में अगर वे कैलोरी की मात्रा अधिक लेंगी तो ओवर वेट हो सकती हैं और अगर कम लेंगी तो कमजोरी आ सकती है। इसके लिए जरूरी है कि प्रतिदिन शरीर की आवश्यकतानुसार कैलोरी (Maintain Calories InTake) ली जाए। सभी के लिए कैलोरी की जरूरत अलग-अलग होती है।
कैलोरी इनटेक हो सही: इस बात को समझना जरूरी है कि टीनएजर लड़कियों को सबसे ज्यादा कैलोरी की आवश्यकता होती है। उम्र बढ़ने के साथ इसकी मात्रा कम होती जाती है। डॉक्टर्स बताते हैं कि 25 वर्ष की उम्र के बाद प्रत्येक 10 वर्ष में शरीर को 2 फीसदी कैलोरी की कम जरूरत होती है। इसलिए बढ़ती उम्र में बेटियों के खान-पान में कैलोरी का ध्यान रखना जरूरी है। उम्र और एक्टिविटी के अनुसार एक्सपर्ट से पूछकर कैलोरी और फैट की मात्रा लेने से वे हेल्दी (Healthy Balance Diet For Teenagers) रह सकती हैं।
ऐसी हो डाइट: अब जानिए कि आपको अपनी डाइट में क्या शामिल करना चाहिए और क्या नहीं?
हरे पत्ते वाली सब्जियां अधिक खानी चाहिए। इनमें आयरन की मात्रा अधिक होती है।
गुड़ और चना मिक्स कर डेली खाने से आयरन की कमी नहीं होती है।
फाइबर युक्त भोजन अधिक मात्रा में लें।
बढ़ती उम्र में कैल्शियम की अधिक जरूरत होती है, जिससे हड्डियां मजबूत रहें। इसके लिए दूध, दही, पनीर या इससे बने उत्पाद को सेवन करना चाहिए।
मसल्स को मजबूत रखने के लिए प्रोटीन वाली चीजें दाल और अनाज खूब खाना चाहिए।
अपने भोजन में कई प्रकार के फल-सब्जियां शामिल करें। इससे आपको सभी विटामिन और अन्य आवश्यक तत्व मिलते रहें।
खाने के साथ पानी न पिएं या बहुत कम पिएं। खाना खाने के बीस मिनट बाद ही पानी पिएं।
प्रतिदिन आठ से दस गिलास पानी पीने से शरीर में नमी बनी रहती है।
वजन न बढ़ने दें। इसके लिए फैट वाली चीजों से परहेज करें।
एक साथ अधिक मात्रा में खाना न खाएं। कम-कम मात्रा में कई बार खाएं। इससे शरीर में ऊर्जा स्तर बना रहता है।
प्रस्तुति- रिचा पांडे
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author