October 4, 2022

अग्निपथ योजना पर ये क्या बोल गए दिग्गज अभिनेता…'बेरोजगारों का देश बन गया है भारत, क्षमावीर को मांगनी होगी माफी'

wp-header-logo-256.png

बॉलीवुड एक्टर और तृणमूल कांग्रेस के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने अग्निपथ योजना के विरोध में देश के कई हिस्सों में हो रही हिंसा के बारे में बताते हुए युवाओं से इसमें शामिल नहीं होने की अपील की है। फिलहाल देश में इस योजना को लेकर प्रदर्शन जारी है और कई जगहों पर हिंसा की वारदात भी सामने आई है। अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के बारे में एक मीडिया इंटरव्यू में एक्टर ने कहा, “विरोध करना एक लोकतांत्रिक अधिकार है और विरोध, प्रदर्शन में कोई बुराई नहीं है, लेकिन जहां तक ​​हिंसा का सवाल है, मैं इसका समर्थन नहीं करता। मैं क्या, इसका समर्थन कोई नहीं करता। देश में राज्यों में शांति स्थापित हो यह बहुत जरुरी है।”
सरकार को अग्निपथ योजना को भी वापस लेना होगा
उन्होंने देश के कुछ कारोबारियों से मिले नौकरी के आश्वासन की योजना को अच्छी पहल बताया। एक्टर ने कहा, “आपने जिन उद्योगपतियों का जिक्र किया, वे अच्छे लोग हैं, जिनमें महिंद्रा, गोयनका जैसे लोग भी शामिल हैं। मैं उनकी पहल की सराहना करता हूं और उन्हें बधाई देता हूं।” एक्टर ने आगे कहा कि सरकार ने विधेयक (कानून) के बारे में कहा था कि इसे वापस नहीं लिया जाएगा लेकिन अंततः इसे वापस लेना पड़ा। सरकार को अग्निपथ योजना को भी वापस लेना होगा। ‘क्षमावीर’ को माफी मांगनी होगी, पछताना पड़ेगा और योजना वापस लेनी होगी।
देश में ऐसा पहले कभी नहीं देखा
उन्होंने कहा कि इस योजना को लागू करने से पहले न कोई विचार, न सहमति और न ही विशेषज्ञों की राय ली गई। प्रधानमंत्री का कहना है कि अगर कोई सलाह-मशविरा है तो लोग उसे भी देखें। कहा जा रहा है कि इस योजना पर दो साल से विचार किया जा रहा है। ऐसी योजना लाई जिसने युवाओं का दिल तोड़ दिया। एक्टर ने आगे कहा, “यह जानना भी जरूरी है कि हम इस स्थिति में कैसे पहुंचे कि देश के युवाओं के विरोध ने इतना उग्र रूप ले लिया। देश में ऐसा पहले कभी नहीं देखा। मैं कहना चाहता हूं कि आप इस योजना (अग्निपथ) को भी वापस ले लें। यह योजना देश, युवाओं और सेना के लिए किसी के लिए भी सही नहीं है।
देश में बेरोजगारी के रिकॉर्ड टूट गए हैं
शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे कहा, “जिस तरह से देश में बेरोजगारी के रिकॉर्ड टूट गए हैं और यह बेरोजगारों का देश बन गया है। आप बेरोजगारी के दौर में युवाओं के लिए चार साल पुराना यह परदे लेकर आए हैं। बाकी 75 फीसदी लोग चार साल बाद कहां जाएंगे? इसके अलावा आप लगातार रिवीजन कर रहे हैं। आप कह रहे हैं कि प्राथमिकता अन्य लोगों को भी दी जाएगी, तो सवाल यह है कि कब और कितना। , एक्टर ने आगे कहा, “ऐसे लोग जिनका मेडिकल हुआ, फिजिकल टेस्ट हुआ, वे इंतजार करने को मजबूर हैं। जब उनकी वर्षों की मेहनत पर पानी फिर गया, तो उनका धैर्य टूट गया। सरकार को इनका ख्याल रखना चाहिए। सरकार ने विश्वास खो दिया है।”
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author