October 3, 2022

धौलपुर में BJP नेता पर 3 हमलावरों ने बरसाई गोलियां, बाल-बाल बचे, हड़कंप मचा

wp-header-logo-430.png

जयपुर। राजस्थान में जब से कांग्रेस की सरकार बनी है तब से अपराध चरम पर है। बीते करीब कुछ सालों में प्रदेश पूरे देश में पहले स्थान पर पहुंच गया है। प्रदेश के हर जिले में रोजाना ढेरो अपराधिक घटना सामने आ रही है। एक बार फिर बीजेपी नेता पर जानलेवा हमला किये जाने का मामला सामने आया है। धौलपुर में रविवार को  पर कुछ लोगों ने फायरिंग कर दी। इस हमले में कुरैशी बाल-बाल बचें। फायरिंग के बाद हमलावर फरार हो गए। फायरिंग की इस घटना से आसपास इलाके में हड़कंप मच गया।
अभी तक आरोपियों का कोई सुराग नहीं
घटना की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में लोग मौके पर इकट्ठा हो गए। कोतवाली थाना पुलिस ने मौके से एक कारतूस भी बरामद किया है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। अभी तक आरोपियों का कोई सुराग नहीं लग पाया है। इस पूरी घटना का सोमवार को वीडियो सामने आया है।
3 नामजद बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज
जानकारी के अनुसार पुरानी रंजिश को लेकर हमला हुआ है। दोनों पक्षों में पहले भी झगड़ा हो चुका है। कोतवाली थाना प्रभारी अनिल कुमार जसोरिया ने बताया कि भाजपा नेता ने 3 नामजद बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। बदमाशों को पकड़ने के लिए इलाके में नाकाबंदी करवाई, लेकिन अब तक उनका कोई सुराग नहीं लग पाया है।
पहले भी हो चुका है जानलेवा हमला 
मुश्ताक कुरैशी ने बताया कि पूर्व पार्षद जहुर खान हिस्ट्रीशीटर है, जो राजनीतिक रंजिश के चलते पहले भी 4 बार उन पर जानलेवा हमला करा चुका है। पीड़ित ने बताया कि साल 2003 में रंजिश को लेकर आरोपी पक्ष ने फायरिंग कर दी थी, जिसमें उनके साले अनवर की मौत हो गई थी। साल 2003 में ही कसाई पाली में उन पर जानलेवा फायरिंग की गई, तब उन्होंने एक दुकान में घुसकर जान बचाई।
भरतपुर सांसद रंजीता कोली पर भी हो चुके हैं हमले
बता दें कि पूर्वी राजस्थान में धौलपुर जिले से सटे भरतपुर में बीजेपी सांसद रंजीता कोली पर भी कई बार हमले हो चुके हैं। कोली पर हो रहे हमले को देखते हुए उनको अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान की हुई है।
भरतपुर में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या
वहीं भरतपुर में पिछले दिनों बीजेपी नेता कृपाल सिंह जघीना की सरेराह गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पूर्वी राजस्थान में बीजेपी नेताओं पर हो रहे हमलों को लेकर भाजपाई कई बार गहलोत सरकार को घेर चुके हैं। स्थानीय बीजेपी नेताओं का आरोप है कि उन्हें चुन-चुनकर निशाना बनाया जा रहा है।
 
 
 


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author