October 3, 2022

Birthday Special: 45वां जन्मदिन मना रहे आकाश चोपड़ा, जानें डेब्यू मैच से लेकर कमेंटेटर बनने तक का कैसा रहा सफर

wp-header-logo-407.png

खेल: भारत के महान बल्लेबाजों में वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) का नाम आता है। वह अपनी तूफानी बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे। उन्होंने टेस्ट में ओपनिंग करने के अंदाज को नए आयाम दिए। लेकिन भारतीय टीम में एक ऐसा भी ओपनर आया था जो सहवाग से बिल्कुल (opposite to Sehwag) उलट था। सहवाग तूफान की तरह तेज थे तो वो कछुए की तरह धीमा। सहवाग के साथ उन्होंने लंबे समय तक ओपनिंग की। पहले दिल्ली के लिए घरेलू क्रिकेट में फिर टीम इंडिया में। अंतरर्राष्ट्रीय क्रिकेट पर वह हालांकि सहवाग का ज्यादा साथ नहीं दे पाए और जल्दी टीम से विदा कर दिए गए जिसका कारण उनका धीमा और फ्लॉप शो रहा। इस ओपनर का नाम है आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra)। आज आकाश की बात इसलिए क्योंकि भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज आज अपना आकाश चोपड़ा आज अपना 45वां जन्मदिन मना रहे (Happy Birthday Aakash chopra) हैं। आज आकाश चोपड़ा के जन्मदिन (Aakash Chopra’s birthday) के अवसर पर जानते हैं उनके बारे में कुछ ख़ास बातें..
यूपी में हुआ था जन्म
आकाश का जन्म 19 सितंबर 1977 को उत्तर प्रदेश के आगरा में हुआ था। उनका जन्म 19 सितंबर, 1977 को उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा में हुआ था। आकाश को बचपन से खेलों के प्रति ख़ास लगाव था। बाल अवस्था में ही उन्होंने क्रिकेट में अपना कॅरियर बनाने का निर्णय कर लिया था। वे क्रिकेट की कोचिंग लेने के लिए दिल्ली आ आए और फ़िर सोनेट क्रिकेट से जुड़कर आगे खेलते गए (Happy Birthday Aakash chopra)। आकाश दिल्ली रणजी टीम और बाद में टीम इंडिया के लिए बतौर ओपनर (Delhi Ranji team) खेले, लेकिन उनका अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कॅरियर बहुत छोटा रहा। वर्तमान में वे एक्टिव क्रिकेट से दूर कमेंटेटर के रूप में काम कर रहे (commentator away from active cricket) हैं।
न्यूजीलैंड के खिलाफ किया था टेस्ट डेब्यू
पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा (cricketer Aakash Chopra) ने दिल्ली के लिए रणजी ट्रॉफी में खेलते हुए काफ़ी अच्छा प्रदर्शन किया था, जिसकी बदौलत उनका टीम इंडिया में चयन हुआ। चोपड़ा ने अपना टेस्ट डेब्यू न्यूजीलैंड के खिलाफ अक्टूबर 2003 में राहुल द्रविड की कप्तानी में किया था। अपने पहले टेस्ट की पहली इनिंग में उन्होंने 42 रन बनाकर बनाए। हालांकि, उनका कॅरियर लंबा नहीं चल पाया। वे बतौर ओपनर टीम इंडिया के लिए सिर्फ एक साल ही खेल पाए। उन्होंने अपने कॅरियर का आखिरी टेस्ट मैच डेब्यू के लगभग सालभर बाद अक्टूबर 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। आकाश चोपड़ा ने अपने टेस्ट कॅरियर में भारत के लिए कुल 10 मैच (Test career) खेले। उन्होंने 23 के औसत से 437 रन बनाए थे, जिसमें 2 फिफ्टी भी शामिल हैं।
युवराज के साथ हुआ था डेब्यू
वर्ष 2003 में न्यूजीलैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में आकाश चोपड़ा ने अपना डेब्यू किया था। इसी सीरीज के 16 अक्टूबर से खेले गए दूसरे मैच में युवराज ने भी टेस्ट में पदार्पण किया था। इस सीरीज में आकाश की परफॉर्मेंस अच्छी रही, उन्होंने दो मैचों में कुल 185 रन बनाए थे। इस प्रदर्शन के कारण बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया सीरीज के लिए भी टीम इंडिया में शामिल कर लिया गया था। जबकि युवराज को मौका नहीं (Aakash Chopra)दिया गया। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर आकाश चोपड़ा फ्लॉप साबित हुए और चार मैचों में 23.25 के औसत से मात्र 186 रन ही बना पाए।
टीम इंडिया में कभी वापसी नहीं हुई
रावलपिंडी में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) की टीम में वापसी हो रही थी। टीम में पहले से सचिन, सहवाग, द्रविड़ और लक्ष्मण जैसे बड़े खिलाड़ी मौजूद थे। गांगुली की वापसी के बाद टीम में एक प्लेयर की जगह कम हो गई। फ्लॉप आकाश की बजाए शानदार खेल रहे युवराज को तीसरे टेस्ट में मौका मिला। उन्होंने मौके को भुनाते हुए 47 रन बनाए। इस सीरीज के तीन मैचों की चार इनिंग में उन्होंने कुल 230 रन बनाए और चयनकर्ताओं के भरोसे पर ख़रे उतरे। पाकिस्तान से आने के बाद आकाश को एक आखिरी मौका ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिला, जिसमें वे मात्र 15 रन बना सके। इसके बाद आकाश चोपड़ा की टीम इंडिया में कभी वापसी नहीं हुई (Aakash Chopra)।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author