January 27, 2023

हड्डियां मजबूत करने वाला दूध भी बन रहा गंभीर बीमारियों की वजह, यहां पढ़िए कैसे चुने परफेक्ट मिल्क

wp-header-logo-270.png

दूध से हो रही गंभीर बीमारियां

Disadvantages Of Milk: दूध हमारी सेहत के लिए बहुत ही बेहतरीन होता है। माताएं अक्सर अपने बच्चों के पीछे पड़ी रहती हैं, दूध पिलो इससे तुम जल्दी से बड़े हो जाओगे आदि। इस बात का सीधा सा मतलब ये है कि दूध हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन, इस बात में सच्चाई है भी या नहीं किसे पता है?अब अगर दादी-नानी की बात माने तो दूध हड्डियों को मजबूत बनाता है, रोजाना दूध पीना चाहिए, क्योंकि दूध पीने से दांत की तकलीफ कम हो जाती है। वैसे हम ये बिल्कुल नहीं बोल रहे की ये बातें गलत हैं, लेकिन उतना ही बड़ा सच ये भी है कि बात भी है कि दूध हर बॉडी टाइप के लिए अच्छा हो ये जरूरी नहीं है।
आप इतने सालों से लगातार दूध पीते आ रहे हैं, इसलिए मुमकिन है कि आपके पेट ने दूध को डाइजेस्ट करना सीख लिया हो। लेकिन, इसका मतलब ये नहीं है कि ये आपकी बॉडी के लिए अच्छा है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया है कि दूध पीने से कई बीमारियां हो सकती हैं और ये आपको समझना होगा कि हो सकता है आपकी बॉडी में हो रही कुछ समस्याओं की असली वजह दूध ही हो। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम देखेंगे की दूध हमारे अच्छा है या नहीं?
मिल्क प्रोटीन आपको कर सकता है बीमार
दूध में एक तरह का प्रोटीन होता है, जो शरीर में हेल्थ सम्बंधित समस्याओं को जन्म दे सकता है। ये प्रोटीन फ्रेगमेंट A1 बीटा कैसीन प्रोटीन है, जो गाय के दूध में मौजूद होता है। इस प्रोटीन से बहुत सारी शारीरिक समस्याएं हो सकती हैं, जैसे सर्दी होना, साइनस की समस्या (नाक के आसपास सूजन) होना, थकान, शरीर में अकड़न, टाइप 2 डायबिटीज, ऑटिज्म और न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर्स आदि।
किस तरह का दूध होता है हेल्दी?
इतनी बीमारियां गिनवाने के बाद अब सवाल उठता है कि अगर गाय का दूध प्रॉब्लम को उत्पन्न कर रहा है तो हमे किस तरह के दूध का सेवन करना चाहिए? दरअसल कोई भी ऐसा दूध जिसमें A1 beta-casein प्रोटीन नहीं होता। उसे हेल्दी की श्रेणी में रखा जाता है। ऐसे दूध को A2 मिल्क कहा जाता है, ये प्रोसेस्ड मिल्क होता है जिसे पीने की सलाह डाइटीशियन्स देते हैं। हालांकि, ये सोचना कि दूध की ये म्यूटेशन बिल्कुल सही है और इससे किसी को नुकसान नहीं होता ये भी पूरा सच नहीं है। A2 मिल्क पर अभी भी रिसर्च की जा रही है।
दूध पीते वक्त अपनी जरूरत का रखें ख्याल
टेक्नोलॉजी और साइंस ने इतना विकास कर लिया है कि अब इंसान की जरूरत के हिसाब से अलग-अलग तरह के दूध आने लगे हैं। ऐसे में मार्केट में नट्स से बनने वाले दूध भी उपलब्ध हैं। तो आपको बस अपनी बॉडी की कमी को पहचानना है और आप उसके हिसाब से दूध का चुनाव कर सकते हैं।
– अगर आपको फैट की कमी है तो फुल क्रीम दूध आपके लिए सबसे बेहतरीन ऑप्शन साबित होगा।
– अगर आपके शरीर में प्रोटीन की कमी है और फैट ज्यादा है तो आपको स्किम्ड मिल्क की जरूरत है।
– अगर आपको दूध से कोई परेशानी नहीं होती है, लेकिन न्यूट्रिशन प्रोफाइल ठीक नहीं है तो आपको डबल टोन्ड दूध पीना चाहिए।

– अगर आपको एनर्जी ज्यादा चाहिए और फैट कम तो टोन्ड दूध सही होगा।

– अगर आपको कार्ब्स और प्रोटीन एक जैसी मात्रा में चाहिए तो बकरी का दूध पिएं।

– अगर आपको मिल्क प्रोटीन से समस्या होती है, तो आप A2 मिल्क पी सकते हैं।

© Copyrights 2023. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author