December 6, 2022

Acidity: खट्टी डकारों और सीने में जलन से पाएं छुटकारा, घरेलू रेमेडीज से करें एसिडिटी का नेचुरल इलाज

wp-header-logo-308.png

Acidity Symptoms and Treatment: जब पेट में गैस्ट्रिक एसिड का उत्पादन बढ़ाने लगता है तो उस स्थिति को एसिडिटी कहते हैं। आमतौर पर हमारा पेट हाइड्रोक्लोरिक एसिड बनाता है, जो भोजन को पचाने और तोड़ने में मदद करता है। जब कोई व्यक्ति एसिडिटी से पीड़ित होता है, तो शरीर में अपच, सीने में जलन, इसोफेगस में दर्द, पेट में अल्सर और जलन जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। एसिडिटी खराब खान-पान और बिगड़ते लाइफस्टाइल के कारण होती है। बताते चलें कि जिन लोगों को एसिडिटी की समस्या होती है, उन्हें खाने की नली में दर्द के साथ-साथ सीने में जलन और खट्टी डकारें आती हैं। एसिडिटी का इलाज लाइफस्टाइल में बदलाव और खान-पान में सुधार करके किया जा सकता है। कुछ घरेलू उपायों से भी एसिडिटी से छुटकारा मिल सकता है।
एसिडिटी के लक्षण क्या हैं?
पेट में जलन होना
गले में जलन होना
बेचैनी महसूस होना
खट्टी डकारें आना
मुंह का स्वाद खराब होना
कब्ज से पीड़ित होना
किन कारणों से हो सकती है एसिडिटी?
1) लगातार मांसाहार, ऑयली और मसालेदार भोजन करना
2) धूम्रपान और शराब पीना
3) तनाव
4) पेट के रोग
एसिडिटी से कैसे करें बचाव?
मसालेदार खाना खाने से बचें।
डाइट में ज्यादा से ज्यादा सब्जियां और फल शामिल करने चाहिए।
पानी और अन्य लिक्विड चीजों का सेवन करें, शरीर को हाइड्रेट रखें।
खाना धीरे-धीरे खाना चाहिए।
खाने के तुरंत बाद न सोएं। खाने और सोने के बीच कम से कम 3 घंटे का अंतर रखना चाहिए।
तुलसी के पत्ते, लौंग, सोया आदि खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
जब तक बहुत जरूरी न हो तब तक दवा लेने से बचें।
एसिडिटी से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार:-
अगर आप गर्म पानी पिएंगे तो आप कई बीमारियों से बच सकते हैं, इसके पीछे की वजह ये है कि गर्म पानी बैक्टीरिया को मारने वाला और इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने वाला होता है। इसके साथ ही गर्म पानी से आपका दिगेंस्टीवे सिस्टम भी ठीक रहता है।
अगर आप एसिडिटी समेत पेट की किसी समस्या से परेशान रहते हैं। तो आपको योग के कुछ आसन करने चाहिए। इसके लिए सुप्त बद्ध कोणासन किया जा सकता है।
पाचन तंत्र को फिट रखने के लिए आप सौंफ के बीज, पुदीने के पत्ते और अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप थोड़ा पानी लें और उसमें ये तीनों चीजों उबाल लें, फिर सुबह के वक्त इसको पीएं।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author