July 1, 2022

Health Tips: मेटाबॉलिज्म बढ़ानें के लिए करें ये योगासन, मिलेंगे ढेरों फायदे

wp-header-logo-342.png

Health Tips: मेटाबॉलिज्म (Metabolism) वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा आपका शरीर भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित करता है। योग की ब्रीदिंग टेक्नीक (Breathing Technique) व्यक्ति के ऑक्सीजन सेवन में सुधार करती है और शरीर को गर्म करती है। इससे मेटाबॉलिज्म की गति तेज हो जाती है। योग (Yoga) वह प्राचीन व्यायाम का एक रूप है जो हमारे अंतःस्रावी अंगों को भी उत्तेजित और मजबूत करते हुए, मेटाबॉलिज्म रेट (Metabolism Rate) को और अधिक प्रकट करता है। इसके अलावा, पोज़ को शरीर को स्ट्रेच, कंप्रेस और ट्विस्ट करके जमा फैट को पिघलाने के लिए डिजाइन किया गया है। ऐसे कई सारे योगा पोज हैं जिन्हें प्रैक्टिस करके आप अपने शरीर के मेटाबॉलिज्म रिएक्शन को तेज कर सकते हैं।
हलासन
यह हलासन थायरॉयड, एडरिनल और पिट्यूटरी ग्रंथियों में परिसंचरण को बढ़ाती है, जिससे फील-गुड एंडोर्फिन और हार्मोन निकलते हैं जो मेटाबॉलिज्म सिस्टम को संतुलित करते हैं। यह आपके ग्लूट्स और लोअर बैक को भी अच्छा स्ट्रेच देता है। अपनी पीठ के बल लेटें और अपने पैरों को सीधे छत की ओर उठाएं। अपनी हथेलियों को नीचे की ओर रखते हुए अपनी बाहों को अपने शरीर के किनारों पर रखें। अपने हाथों पर दबाएं और अपने पैरों को अपने सिर के ऊपर उठाएं। अपने सिर के पीछे फर्श को छूने की कोशिश करें। कुछ सेकंड के लिए रुकें और दोहराएं।
सलम्बा सर्वांगासन
सलम्बा सर्वांगासन आपके शरीर में जमा जिद्दी फैट सेल्स को कम करने का काम करता है। इस मुद्रा के दौरान, रक्त आपके ऊपरी शरीर में जाता है, जिससे आपके हृदय और मस्तिष्क को ऑक्सीजन की अच्छी खुराक मिलती है और साथ ही शरीर के मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करने वाली थायरॉयड ग्रंथि को पोषण मिलता है। योग के जरिए वजन कम करने और थायराइड को ठीक करने में मदद करता है। अपने शरीर के साथ अपनी बाहों के साथ अपनी पीठ के बल लेटें। अपने पैरों को ऊपर उठाएं जब तक कि वे 90 डिग्री पर न हों, पैर की उंगलियां छत की ओर इशारा करती हैं। जितना पॉसिबल हो उतनी देर इस पोज में रहने की कोशिश करें।
परिव्रत उत्कटासन
अपने शरीर को असामान्य तरीके से मोड़ने से आपके आंतरिक अंग जाग जाते हैं और पाचन में सहायता मिलती है। एक अच्छा पाचन तंत्र अच्छे मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देनें के लिए जाना जाता है। अपने पैरों पर सीधे खड़े हो जाइए। अपने घुटनों को मोड़ें और अपने कूल्हों को नीचे करें जैसे कि आप अपने पीछे एक कुर्सी पर बैठे हों। अपनी हथेलियों को अपनी छाती के सामने एक साथ लाएं। अपनी रीढ़ को घुमाएं और अपनी दाहिनी कोहनी को अपने बाएं घुटने पर लाएं। 30 सेकंड के लिए रुकें और साइड स्विच करें।
अंजनेयासन
यह आसन हृदय गति को बढ़ाकर मेटाबॉलिज्म को तेज करता है। यह पैरों को मजबूत करने और पेल्विक एरिया को खोलने के लिए भी अच्छा है, जो उन लोगों के लिए सबसे अधिक फायदेमंद है जो काम पर लंबे समय तक बैठते हैं। चटाई पर खड़े हो जाएं। एक पैर के साथ पीछे हटें और पैर की गेंद पर भार के साथ एड़ी को उठाकर रखें। दूसरे पैर को बहुत आगे की ओर रखें ताकि जब आप अपना घुटना मोड़ें, तो वह पैर के ऊपर रहे, न कि उससे आगे बढ़े। पैर की गेंद को पीछे की ओर संतुलित करते हुए अपने शरीर को नीचे करें और फिर अपनी भुजाओं को ऊपर आकाश की ओर उठाएं। अगर आपकी गर्दन सहज महसूस करती है, तो सीधे आगे या ऊपर देखें। 15-30 सेकंड के लिए मुद्रा में रहें, फिर आराम करें और पैर बदलें।
सेतु बंध सर्वांगासन
इस मुद्रा के दौरान थायरॉयड ग्रंथियां की मसाज हो जाती है और हार्मोन जारी करती है जो किसी के मेटाबॉलिज्म को किकस्टार्ट करता है। अपने घुटनों को मोड़कर अपनी पीठ के बल लेट जाएं और अपने पैरों को फर्श पर कूल्हे-चौड़ाई से अलग रखें। बाजुओं को शरीर के साथ सरकाएं और अपनी उंगलियों से अपनी एड़ी को हल्के से छुएं। अपने पैरों को फर्श में दबाएं, सांस लें और अपने कूल्हों को ऊपर उठाएं। अपनी बाहों को अपने नीचे रखें और अपने हाथों को आपस में जोड़ने की कोशिश करें। 45 से 60 सेकंड के लिए इस मुद्रा में रहें और धीरे-धीरे फिर से सपाट हो जाएं। कुछ और बार दोहराएं।
नोट: यहां दी गई जानकारी सामान्य लेखों से ली गई है, इन्हें विशेषज्ञ की राय के तौर पर न लें।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source