December 5, 2022

गिरी कट ऑफ : इस बार तो 68% से 31% तक अंक वालों को मिल गई आईआईटी में कम्प्यूटर साइंस ब्रांच

wp-header-logo-284.png

news website
कोटा. काउंसलिंग प्रक्रिया के बाद आईआईटी बॉम्बे की ओर से जारी एक रिपोर्ट के अनुसार इस वर्ष टॉप आईआईटीज में कम्प्यूटर साइंस ब्रांच का कटआॅफ प्रतिशत प्राप्तांक पर पिछले कई वर्षों की तुलना में सबसे कम रहा। इसके चलते इस बार 31 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी भी इस प्रतिष्ठित ब्रांच में पढ़ाई कर सकेंगे।
एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के कॅरियर काउंसलिंग एक्सपर्ट अमित आहूजा ने बताया कि जेन्डर न्यूट्रल ग्रुप कोटे से ओपन कैटेगरी में आईआईटी बॉम्बे की कम्प्यूटर साइंस ब्रांच की प्राप्तांक कट ऑफ 68 प्रतिशत रही। इसी तरह आईआईटी दिल्ली की 65 प्रतिशत, मद्रास की 61 प्रतिशत, कानपुर की 60 प्रतिशत, खड़गपुर की 58 प्रतिशत, रूड़की की 55 प्रतिशत, गुवाहाटी की 53 प्रतिशत, हैदराबाद की 51 प्रतिशत, बीएचयू की 48 प्रतिशत एवं टॉप-10 आईआईटी में शामिल आईआईटी इंदौर की 45 प्रतिशत कटआॅफ रही। इसके अतिरिक्त जेन्डर न्यूट्रल ग्रुप कोटे से ओपन कैटेगरी में 31 प्रतिशत प्राप्तांक वाले विद्यार्थी को आईआईटी भिलाई में कम्प्यूटर साइंस ब्रांच में प्रवेश मिल गया।
कैटेगरी में और भी कम रही कट ऑफ
आईआईटी बॉम्बे की जेन्डर न्यूट्रल ग्रुप कोटे से सीएस की ईडब्ल्यूएस कैटेगरी की कटआॅफ 65 प्रतिशत, ओबीसी की 53 प्रतिशत, एससी की 45 प्रतिशत एवं एसटी की 40 प्रतिशत प्राप्तांक रही। वहीं आईआईटी दिल्ली की ईडब्ल्यूएस कैटेगरी की 60 प्रतिशत, ओबीसी की 50 प्रतिशत, एससी एवं एसटी की 40 प्रतिशत, वहीं टॉप-10 आईआईटी में शामिल आईआईटी इंदौर की ईडब्ल्यूएस की कट ऑफ 41 प्रतिशत, ओबीसी की 36 प्रतिशत, एससी की 26 एवं एसटी की 21 प्रतिशत प्राप्तांक रही। ईडब्ल्यूएस कैटेगरी में 29 प्रतिशत पर अंतिम आईआईटी की सीएस ओबीसी में 26 प्रतिशत पर, एससी में 14 प्रतिशत एवं एसटी में 13 प्रतिशत प्राप्तांक पर आईआईटी भिलाई में कम्प्यूटर साइंस ब्रांच में एडमिशन मिला।
छात्राओं को कम प्रतिशत प्राप्तांक पर भी सीएस
इस वर्ष आईआईटी बॉम्बे फीमेल कोटे से सीएस ब्रांच ओपन कैटेगरी में 58 प्रतिशत, दिल्ली में 54 प्रतिशत, मद्रास में 51 प्रतिशत, कानपुर 50 प्रतिशत, खड़गपुर 48, रूडकी एवं हैदराबाद 43 प्रतिशत, गुवाहाटी 41, बीएचयू 39 और आईआईटी इंदौर में 38 प्रतिशत प्राप्तांक रही। साथ ही 27 प्रतिशत प्राप्तांक हासिल करने वाली छात्रा को भी अंतिम आईआईटी भिलाई में सीएस ब्रांच में प्रवेश मिला। ईडब्ल्यूएस में फीमेल कोटे से 22 प्रतिशत प्राप्तांक ओबीसी में 20 प्रतिशत प्राप्तांक, एससी में 13 प्रतिशत, एससी में 9 प्रतिशत प्राप्तांक पर अंतिम आईआईटी भिलाई में कम्प्यूटर साइंस ब्रांच में प्रवेश मिला।

इसलिए गिरी कट ऑफ
आहूजा ने बताया कि इस वर्ष जेईई-एडवांस्ड परीक्षा 360 अंकों की हुई। पेपर-1 एवं पेपर-2, 180-180 अंकों के थे। विद्यार्थियों को मिले प्रवेश इन्हीं अंकों में से प्राप्त प्राप्तांकों के प्रतिशत पर आधारित है। यह जेईई-एडवांस्ड परीक्षा गत वर्षों के मुकाबले कठिनतम स्तर की रही। ऐसे में कम प्राप्तांक वाले विद्यार्थियों को शीर्ष आईआईटी में सीएस ब्रांच प्राप्त हुई।
Your email address will not be published. Required fields are marked *







This is the News Website by Chambal Sandesh
Rajasthan, Kota
THIS IS CHAMBAL SANDESH YOUR OWN NEWS WEBSITE

  • एजुकेशन
  • कर्नाटक
  • कोटा
  • गुजरात
  • Chambal Sandesh

    source

    About Post Author