November 28, 2022

Kota: प्रदूषण मुक्त शवदाह गृह प्रदेश के लिए मॉडल बनेगा: धारीवाल

wp-header-logo-335.png

news website
कोटा. स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने सोमवार को कोटा के पहले गैस आधारित शवदाह गृह का आरकेपुरम मुक्तिधाम में लोकापर्ण किया। इससे नए कोटा के नागरिकों को परिजनों के अंतिम संस्कार के समय प्रदुषण मुक्त शवदाह की सुविधा मिलेगी।
मंत्री धारीवाल ने कहा कि पीएनजी गैस आधारित शवदाह गृह पर्यावरण अनुकूल है। इससे अंतिम संस्कार के समय पर्यावरण को नुकसान नहीं होगा। इससे स्थानीय नागरिकों को अपने परिजनों के अंतिम संस्कार के समय किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि इसमें अंतिम संस्कार के समय पीएनजी, सीएनजी एवं एलपीजी में से उपलब्धता के अनुसार किसी भी प्रकार की गैस का उपयोग किया जा सकेगा।
उन्होंने श्मशान परिसर में नगर विकास न्यास के माध्यम से सुविधाओं का विकास करवाने, नगर निगम के माध्यम से भवन निर्माण में सहयोग आदि के निर्देश दिए। उन्होंने मातेश्वरी सेवा संस्थान के संरक्षक गोविन्दराम मित्तल द्वारा की गई पहल की सराहना करते हुए कहा कि प्रदुषणमुक्त शवदाह गृह की पहल राजस्थान के अन्य जिलों के लिए प्रेरणा का कार्य करेगी।
पीएनजी गैस आधारित इस शवदाहगृह का निर्माण विभिन्न समाजसेवियों द्वारा दी गई सहायता से मात्र 30 लाख रुपए में हुआ है। मातेश्वरी सेवा संस्थान इस शवदाहगृह को कोटा नगर निगम एवं यूआईटी के सहयोग से संचालित करेगी। इस अवसर पर समिति संरक्षक गोविन्दराम मित्तल, महापौर राजीव अग्रवाल, उपमहापौर पवन मीणा, न्यास विशेषाधिकारी आरडी मीणा, न्यास सचिव राजेश जोशी, नगर निगम दक्षिण आयुक्त राजपाल सिंह, यूआईटी पूर्व अध्यक्ष रविंद्र त्यागी, शिवकांत नंदवाना एवं डॉ. जफर मोहम्मद सहित जनप्रतिनिधि, विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारी, समाजसेवी एवं स्थानीय नागरिक मौजूद रहे।
Your email address will not be published. Required fields are marked *







This is the News Website by Chambal Sandesh
Rajasthan, Kota
THIS IS CHAMBAL SANDESH YOUR OWN NEWS WEBSITE

  • एजुकेशन
  • कर्नाटक
  • कोटा
  • गुजरात
  • Chambal Sandesh

    source

    About Post Author