July 1, 2022

फिर आउट हुआ पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर, सरकार की नाकामी से अभ्यर्थियों को दोबारा देना होगा पर्चा

wp-header-logo-317.png

जयपुर। राजस्थान में रीट पेपर लीक की आग अभी ठीक से बुझी नहीं कि राजस्थान पुलिस के कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के 14 मई को सेकंड पारी के पेपर आउट हो गया। अशोक गहलोत की नाकामी की वजह से अभ्यर्थियों को दोबारा परीक्षा देनी पड़ेगी। राजस्थान पुलिस भर्ती परीक्षा 2021 का 14 मई को सेकंड पारी में दोपहर 3 बजे से तक आयोजित होने वाली परीक्षा का पेपर परीक्षा समय से पूर्व ही वाट्सअप पर आ गया है। इस आउट हुए पेपर को मुखबिर ने एसओजी के व्हाट्सएप नंबर पर भेजा।
करीब पौने तीन लाख अभ्यर्थियों ने दी थी परीक्षा
जयपुर के दिवाकर पब्लिक स्कूल के केंद्र अधीक्षक द्वारा 14 मई की द्वितीय पारी के पेपर को समय से पहले खोले जाने के कारण यह पेपर आउट हो गया। द्वितीय पारी में करीब पौने तीन लाख अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी। अब 14 मई को द्वितीय पारी की परीक्षा का फिर से आयोजन किया जाएगा। जानकारी के अनुसार यह पेपर राजधानी जयपुर के झोटवाड़ा इलाके की एक निजी स्कूल में बनाये गये परीक्षा केंद्र के स्ट्रांग रूम से लीक हुआ बताया जा रहा है।
8 लोगों को लिया हिरासत में
पुलिस महानिदेशक एमएल लाठर के फैसले के अनुसार अब 14 मई को दूसरी पारी में आयोजित हुए पेपर की राजस्थान में दोबारा परीक्षा कराई जायेगी। 14 मई को सेकैंड पारी का पेपर आउट हो गया था। स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप इस मामले में 8 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पूछताछ में और भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी से जुड़े और भी कई बड़े खुलासे हो सकते हैं। इस पेपर की नई परीक्षा तिथि की घोषणा बाद में की जायेगी।
टूट गया अभ्यर्थियों का मनोबल
राजस्थान में रीट जैसी बड़ी परीक्षा के बाद अब राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर आउट हो जाने से अभ्यर्थियों का मनोबल टूटने लग गया है। पेपर आउट होने से लाखों अभ्यर्थियों की मेहनत पर पानी फिर गया है। वहीं भर्ती परीक्षा से जुड़े इंतजामों की खामियां भी सामने आ गई हैं। हालांकि इसका असर सभी अभ्यर्थियों पर असर नहीं पड़ेगा। लेकिन फिर भी लाखों अभ्यर्थियों को यह पेपर दोबारा देना होगा। दूसरी तरफ भरतपुर में दो लाख रुपये की डील कर कांस्टेबल भर्ती का पेपर उपलब्ध कराने वाली एक गैंग का भी पर्दाफाश किया गया है। पुलिस ने इस गैंग का 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से आधा दर्जन मोबाइल समेत नगदी और परीक्षा से संबंधित सामग्री बरामद की गई है।
3 वर्षों में 11 भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक
प्रदेश में सक्रिय नकल माफियाओं की कारगुजारी के चलते कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के प्रश्न पत्र के लीक होने और दूसरी पारी की परीक्षा को निरस्त किए जाने के बाद अब भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री वासुदेव देवनानी ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर हमला बोला है। देवनानी ने अशोक गहलोत सरकार पर गंभीर सवाल खड़े करते हुए कहा कि 3 साल के दौरान प्रदेश में 11 भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक हुए है। कांग्रेस सरकार के लिए यह बहुत ही शरम की बात है।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source