September 25, 2022

राजस्‍थान के 8 रेलवे स्‍टेशन बनेंगे वर्ल्ड क्लास, एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं मिलेंगी

wp-header-logo-331.png

जयपुर। राजस्‍थान की राजधानी जयपुर और दूसरे सबसे बड़े शहर जोधपुर सहित आठ प्रमुख रेलवे स्‍टेशनों की काया पलटने वाली है। राजस्थान के इन आठ स्टेशनों को भारतीय रेलवे अत्‍याधु‍न‍िक सुव‍िधाओं से लैस करने जा रहा है। इनमें जोधपुर, जयपुर, गांधीनगर जयपुर, अजमेर, उदयपुर, जैसलमेर, आबूरोड और बीकानेर शामिल हैं। राजस्थान के इन सभी आठ रेलवे स्टेशन को वर्ल्ड क्लास बनाया जाएगा। रेल लैंड डवलपमेंट अथॉरिटी की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक यह प्रोजेक्ट अभी प्लानिंग स्टेज पर हैं।
500 करोड से ज्यादा किया जाएगा खर्च
रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक उदयपुर, जयपुर के गांधीनगर और जयपुर जक्शन रेलवे स्टेशन को री डवलप करने का पूरा प्यान तैयार किया जा रहा है। उदयपुर और गांधीनगर रेलवे स्टेशन का मॉडल भी तैयार हो चुका है। जयपुर स्टेशन पर काम करना अभी बाकि है। इन रेलवे स्टेशन को विकसित करने के लिए करीब 500 करोड़ से ज्यादा का खर्च किया जाएगा। रेलवे जोधपुर, जैसलमेर, अजमेर और बीकानेर स्टेशन का भी मॉडल तैयार करेगा।
रीडवलप की जिम्मेदारी लैंड डवलपमेंट अथॉरिटी को दी गई
केंद्र सरकार ने रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट की तरह पीपीपी मोड पर तैयार कर रहा है। रेलवे ने गांधीनगर, जयपुर, अजमेर और उदयपुर रेलवे स्टेशन को री डवलप करने की जिम्मेदारी उत्तर पश्चिम रेलवे को सौंपी है। ठीक इसी तरह जोधपुर, जैसलमेर और बीकानेर स्टेशन को री डवलप करने की जिम्मेदारी लैंड डवलपमेंट अथॉरिटी को दी है। इतना ही नहीं इस लिस्ट में पाली मारवाड़ स्टेशन का नाम भी जोड़ दिया गया है। माना जा रहा है कि इन स्टेशन को दो से तीन साल के भीतर तैयार किया जाएगा।
इन स्टेशन पर पैसेंजर्स को मिलेगी वर्ल्ड क्लास फैसिलिटी
राजस्थान के इन 8 रेलवे स्टेशन पर पैसेंजर्स को वर्ल्ड क्लास फैसिलिटी मिलेंगी। इन सभी स्टेशन की बिल्डिंग काफी मॉर्डन होगी। यहां पार्किंग, लिफ्ट, एस्केलेटर, वीआईपी लाउंज और कैफेटेरिया होगा। यहां लोगों को किसी फाइव स्टार होटल जैसी सुविधाएं मिलेंगी। साथ ही यहां आने वाले लोगों को पार्किंग के लिए बड़ा शेड मिलेगा। यहां किसी एयरपोर्ट की तरह यात्रियों को एंट्री और एग्जिट के लिए अलग-अलग रास्ता भी मिलेगा।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author