September 25, 2022

लुटेरी दुल्हन 13 लोगों को लूट चुकी, तलाकशुदा और कुंवारी बनाकर करती शादी

wp-header-logo-309.png

जयपुर। राजस्थान में लुटेरी दुल्हन की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। प्रदेश के बाड़मेर में एक महिला ने बीते तीन सालों में शादी कर करके 13 लोगों को फंसाया। शादी कर लाखों रुपए के जेवरात और नगद रुपए लेकर फरार हो गई। महिला शादी के बाद इन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाकर फंसाने और ब्लैकमेल करने की धमकियां देती थी। इस लुटेरी दुल्हन के खिलाफ भी बाड़मेर और नागौर में 3 मामले दर्ज हैं। कुछ पीड़ित लोग पुलिस के पास भी नहीं पहुंचे हैं। चौहटन पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया। कोर्ट ने जमानत अर्जी खारिज करते हुए मंगलवार को जेल भेज दिया। चौहटन के ईश्वरपुरा कापराऊ निवासी जीयोदेवी (38) लोगों को कुंवारी बताकर पहले शादी करती है। इस महिला ने 13 से ज्यादा झूठे मुकदमें दर्ज करवाए हैं। जो पुलिस जांच में गलत पाए गए।
कुंवारी दुल्हन बनकर बनाती शिकार
27 अगस्त 2021 को मापुरी निवासी रामाराम पुत्र जोगाराम ने चौहटन थाने में जीयादेवी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। रामाराम टेंकर ड्राइवर है। उसे एक साल पहले जीयोदेवी नाम की महिला मिली थी। दोनों में दोस्ती हो गई। फिर शादी कर ली। इस दौरान जीयोदेवी ने 2 लाख रुपए की डिमांड की थी। ड्राइवर ने उसके खाते में 49 हजार रुपए चार बार जमा करवाए। कुंवारी बताकर जीयोदेवी की सहमति से एफिडेविट पर शादी कर ली।
शादी के बाद नगदी और जेवरात लूट ले जाती थी
पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक रामाराम ने महिला को तीन तोला सोने की निंबोली, डेढ़ तोला कंठी, आधे तोले का मंगलसूत्र, आधा तोला झुमके, आधा तोला सोने की अंगूठी व 30 तोला चांदी के जेवरात बनाकर दिए। रामाराम और जीयोदेवी परिवार से अलग होकर चौहटन आ गए। वहां रहने लगे। चौहटन में महिला के किसी दूसरे व्यक्ति से संबंध थे। जब रामाराम को इसका पता चला तो युवक ने मारपीट की। धक्के देकरपीड़ित को घर से निकाल दिया। फिर जियोदेवी जेवरात, नकदी और अन्य सामान लेकर चली गई।
ब्लैकमेलिंग और डरा-धमका कर रुपए ऐंठना
पुलिस के अनुसार, जीयोदेवी ने अलग-अलग 13 मामले लोगों के खिलाफ दर्ज करवा रखे हैं। अधिकांश मामलों में एफआर लग चुकी है। कई मामलों में खुद ब्लैकमेल कर रही थी। फिर बयानों से मुकर गई। कई मामले झूठे पाए गए। इसके बाद एफआर दे दी गई। करीब 9-10 मामलों में एफआर हो चुकी है। इसके अलावा महिला के खिलाफ तीन मामले दर्ज हैं। जिसमें दो चौहटन और एक नागौर के कुचेरा में दर्ज है। महिला ने खुद को तलाकशुदा और विधवा बताकर लोगों से शादी की और फिर जेवरात और रुपए लेकर ब्लैकमेल कर मुकदमा दर्ज करवाने की धमकियां देती थी।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author