May 21, 2022

कोटा: पिता नीचे उतरने का आग्रह करते रह गए, छात्रा ने हॉस्टल की 5वीं मंजिल से कूदकर दे दी जान

wp-header-logo-379.png



कोटा से नहीं जाना चाहती थी छात्रा, इस बात को लेकर पिता-पुत्री में हुई अनबन
संदेश न्यूज। कोटा. शहर के कुन्हाडी थाना क्षेत्र में एक छात्रा ने हॉस्टल की 5वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। छात्रा शिखा यादव (17) कोटा में रहकर मेडिकल की तैयारी कर रही थी। एक दिन पहले ही पिता बेटी को अपने साथ ले जाने के लिए कोटा आए थे। इस बात को लेकर दोनों में अनबन हो गई और नाराज होकर छात्रा ने आत्महत्या कर ली। छात्रा शिखा बिहार के मधेपुरा की निवासी थी।
कुन्हाड़ी पुलिस के अनुसार शिखा का एक साल पहले कोटा में एडमिशन हुआ था और लेकिन अप्रैल-2021 में वह हॉस्टल में रहने आई थी। उसके पिता उसे लेने आए थे। शनिवार दोपहर 12 बजे दोनों का वापस जाने का ट्रेन का रिजर्वेशन था। पिता ने सामान भी पैक कर लिया था, लेकिन छात्रा ने हॉस्टल की छत से कूदकर जान दे दी। छात्रा के आत्महत्या करने के मामले का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है।
इसमें छात्रा के पिता, हॉस्टल संचालक और कुछ अन्य लोग हॉस्टल के बाहर खडे दिखाई दिए। वे 5वीं मंजिल की बालकनी में मौजूद छात्रा से नीचे आने को कह रहे थे। पिता भी उससे सीढ़ियों से नीचे उतरने की गुहार लगा रहे थे। इसी बीच, छात्रा नीचे गिरती हुई दिखी। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि छात्रा बालकनी में खड़ी होकर नीचे कूदने जा रही थी, तभी उसे बचाने के लिए पिता हॉस्टल के अंदर दौड़े। पिता को आता देखकर उसने 5वीं मंजिल से छलांग लगा दी। नीचे भी कुछ लोग खड़े हुए थे, लेकिन छात्रा को बचाया न जा सका। छात्रा के हाथ-पैरों और सिर पर गंभीर चोट लगी और जमीन पर गिरते ही मौत हो गई।
पढ़ाई में कमजोर होने के कारण छात्रा को वापस ले जाना चाहते थे पिता
इस मामले में हॉस्टल संचालक का कहना था कि छात्रा शिखा के पढ़ाई में कमजोर होने के कारण उसके पिता नाराज थे। इसी कारण उसके पिता शुक्रवार को वापस ले जाने आए थे। छात्रा कोटा से नहीं जाना चाहती थी। आज सुबह पिता ने बिहार जाने के लिए सामान पैक किया। बेटी ने एक बैग व आधा सामान हॉस्टल में ही रखने के लिए बोला। पिता ने इनकार कर दिया और सारा सामान ले जाने की बात कही। सुबह 9.30 बजे पिता सामान पैक करके हॉस्टल के कमरे से नीचे आ गए। नीचे आकर हॉस्टल संचालक के साथ चाय पीने लगे।
इस दौरान शिखा दौड़ती हुई हॉस्टल की पांचवीं मंजिल पर पहुंच गई। बालकनी में जाकर कूदने लगी। घटना देखकर हॉस्टल के बाहर भीड़ लग गई। उसके पिता व हॉस्टल संचालक दौड़ते हुए बाहर आए। बेटी को समझाने की कोशिश की। कूदने से मना करते रहे। लेकिन उसने किसी की बात नहीं मानी। मृतका के पिता सर्वेश यादव टीचर है। बिहार के मधेपुरा में रहते हैं। उनके दो बच्चों में शिखा छोटी थी। शिखा की मां बीमार चल रही है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव पिता के सुपुर्द कर दिया। वे शव को लेकर बिहार के लिए रवाना हो गए।
Your email address will not be published. Required fields are marked *







This is the News Website by Chambal Sandesh
Chambal Sandesh 

source