January 29, 2023

फिटनेस के लिए Riteish Deshmukh करते हैं शाकाहारी मांस का सेवन, देखें भारत में कहां मिलेगा बेहतरीन Vegetarian Meat

wp-header-logo-229.png

Vegetarian Meat: आपने वेजिटेरियन (Vegetarian) और नॉन वेजिटेरियन (Non-Vegetarian) को लेकर लोगों के बीच बहस होते हुए तो अक्सर सुनी ही होगी। दोनों ही तरह के लोग अपने खाने को सेहत के लिए फायदेमंद बताने की जद्दोजहद में लगे हुए होते हैं। तो अब सबसे बड़ा सवाल यही उठता है कि क्या मीट खाने से ही आपके शरीर को भरपूर प्रोटीन मिलता है? अगर आपका जवाब हां है, तो आपकी इस सोच को बॉलीवुड एक्टर रितेश देशमुख ने गलत साबित करने की तैयारी कर ली है। बता दें कि एक्टर रितेश देशमुख (Riteish Deshmukh) एक समय में बहुत ज्यादा नॉन वेज खाते थे, लेकिन आज के समय में वो जानवरों से मिलने वाले मीट का सेवन नहीं करते हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि मीट तो जानवरों से ही मिलता है, लेकिन ये सच नहीं है। हाल ही में रितेश ने वेजिटेरियन मीट खाना शुरू किया है, बता दें कि वेजिटेरियन मीट (Vegetarian Meat) इंडियन फूड इंडस्ट्री (Indian Food Industry) में बड़ी क्रांति ला सकता है।
आखिर क्या होता है वेजिटेरियन मीट?
वेजिटेरियन मीट सुनने में ही बहुत अटपटा सा लगता है क्योंकि अगर मीट की बात हो रही है तो वह वेजिटेरियन कैसे हो सकता है। दरअसल इस वेजिटेरियन मीट का स्वाद, टेक्सचर और कलर बिल्कुल जानवरों से मिलने वाले मीट की तरह ही होता है। लेकिन, इस मीट की विशेषता ही यही है कि यह जानवरों से नहीं बल्कि प्लांट्स से मिलता है। जी हां, वेजिटेरियन मीट पूरी तरह से प्लांट बेस्ड प्रोडक्ट होता है। चौंकाने वाली बात ये है कि अब मार्केट में प्लांट्स बेस्ड मीट (Plant Based Meat) की वैरायटी भी मिलने लगी है, जैसे कि चिकन, सीफूड्स, मटन आदि। इस मीट को तैयार करने के लिए दूध तक का इस्तेमाल नहीं होता है। इसकी जगह प्लांट्स पर आधारित बादाम, ओट्स और सोयाबीन का इस्तेमाल किया जाता है। बता दें कि जो लोग वीगन डाइट फॉलो करते हैं, ये प्रोडक्ट उनके लिए बहुत ही लाजवाब है।
वेजिटेरियन मीट खाने के क्या है फायदे?
एक्टर रितेश देशमुख के मुताबिक प्लांट बेस्ड मीट का सेवन करने से आपके शरीर को भरपूर मात्रा में प्रोटीन मिलता है। इसमें फैट की मात्रा कम होती है, साथ ही पोषक तत्व भी अच्छी मात्रा में मौजूद होते हैं। प्लांट बेस्ड मीट का सेवन करने से डायबिटीज, हार्ट डिजीज, हाइपरटेंशन जैसी गंभीर बीमारी की संभावना बहुत कम हो जाती है। हालांकि ध्यान रखें कि कुछ वेजिटेरियन मीट प्रोडक्ट्स में सोडियम का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में शरीर में इसकी ज्यादा मात्रा नुकसानदेह भी हो सकती है।
भारत में टॉप 5 प्लांट बेस्ड मीट कंपनियां
गुडडॉट
राजस्थान के उदयपुर में स्थित गुडडॉट देश को प्लांट बेस्ड प्रोटीन प्रदान करता है, जिसे कहीं भी ले जाया जा सकता है और कोई भी खरीद सकता है। उनके प्रोडक्ट्स कम कीमत पर प्रोटीन और मांस का स्वाद प्रदान करते हैं, जबकि यह हेल्दी और प्लांट बेस्ड होते हैं।
इमेजिन मीट
महाराष्ट्र के मुंबई में स्थित इमेजिन मीट एक प्लांट-बेस्ड मीट वेंचर है, जिसका लक्ष्य दुनिया को खाने के लिए बेहतर जगह और प्रोडक्ट्स देना है। कंपनी क्रुएल्टी फ्री मीट बेचती है, जो पर्यावरण के लिए अच्छा और स्वादिष्ट भी है।
वाकाओ
गोवा में स्थित वाकाओ कटहल से बनी मांस की चीजों का प्रोडक्शन करता है। इस कंपनी के सभी प्रोडक्ट्स प्रिजर्वेटिव से मुक्त हैं, इनके प्रोडक्ट्स की शेल्फ लाइफ एक साल की है।
वेज़ले
दिल्ली में स्थित वेज़ले को साफ और पैसा वसूल वेजिटेरियन प्रोडक्ट्स बनाने के लिए जाना जाता है, जो पौष्टिक, स्वस्थ और स्वादिष्ट होता हैं। ये भारत में एक सोया प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी है और ये सोया से बनी रेडी-टू-ईट खाने के प्रोडक्ट्स बनाते हैं।
मिस्टर वेज
हरियाणा में स्थित मिस्टर वेज अपनी तकनीक का उपयोग करके प्लांट बेस्ड मांस बनाते हैं, जो अनाज से मांस और मांस से बने प्रोडक्ट्स बनाता है। बता दें कि ये प्लांट बेस्ड पोम्फ्रेट मछली बनाने वाली पहली कंपनी भी है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author