July 1, 2022

रसोई में मौजूद मसालें होते हैं एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर, जिनके सेवन से कम हो जाएगी दवाओं की जरूरत

wp-header-logo-270.png

Health Tips: हमारे घर के डेली खाने में कई तरह के मसालों (Kitchen Spices) का प्रयोग किया जाता है। इन मसालों में एंटी बैक्टीरियल (Anti-Bacterial) और एंटी इंफ्लेमेटरी (Anti Inflammatory) गुण पाये जाते हैं। लेकिन इन मसालों के बारे में सही जानकारी न होनें के कारण हमें इनके लाभों से वंचित रह जाते हैं। सबसे पहली बात हमें इन मसालों के गुणों (Benefits Of Spices) के बारे में जानकारी होनी चाहिए। आप अगर अपने खाने में सही मात्रा में इन्हें इस्तेमाल करेंगे तो आपको इनके ढेरों फायदे मिलेंगे। आपके लिए अपनी इस स्टोरी में हम लेकर आएं इन मसालों के बारे में जानकारी…
तुलसी यानी बेसिल (Tulsi or Basil)
तुलसी हमारे शरीर को लीवर, त्वचा, किडनी आदि के विभिन्न संक्रमणों और रोगों से बचाने में काफी इफेक्टिव साबित होती है। इसमें शक्तिशाली ऑक्सीडेंट होते हैं जो आपके ब्लड प्रेशर लेवल और कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल करने में मदद करते हैं।
काली मिर्च यानी ब्लैक पेपर (Kali Mirch Or Black Pepper)
काली मिर्च हमारे शरीर के पाचन तंत्र के लिए अच्छी होती है। ये शरीर को डिटॉक्स करके कैंसर से बचाता है। जब इस मसाले को खाने में डाला जाता है तो यह आपके खाने का स्वाद को और भी तीखा बना देता है।
दालचीनी यानी सिनेमन (Dalchini Or Cinnamon)
सिनेमन एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होती है। ये ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करती है जिस कारण इसका सेवन करने से हार्ट संबंधी बीमारियां दूर रहती हैं।
जीरा यानी क्यूमिन (Jeera or Cumin)
जीरे में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले पदार्थ होते हैं जो एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करते हैं। इसका मतलब है कि ये पदार्थ स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करने वाले छोटे फ्री रेडिकल्स को सफल होने से रोकते हैं। इसमें एंटी कैंसर प्रॉपर्टीज होती हैं, इसके साथ ही ये ब्लड शूगर लेवल को भी कंट्रोल करता है।
अजवाइन यानी सिलेरी (Ajwain or Celery)
अजवाइन में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं कोशिकाओं, ब्लड वेसल और अंगों को ऑक्सीडेटिव डैमेज से बचाते हैं। अजवाइन में लगभग 25 एंटी-इंफ्लेमेटरी कंपाउंड होते हैं जो शरीर में इंफ्लेमेशन से सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं। अजवाइन कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले विटामिन और खनिजों से भरपूर होती है।
हल्दी या टरमरिक (Haldi Or Turmeric)
हल्दी में मौजूद करक्यूमिन एक नेचुरल एंटी-इंफ्लेमटरी कंपाउंड के रूप में काम करता है। हल्दी शरीर की एंटीऑक्सीडेंट क्षमता को बढ़ा सकती है। करक्यूमिन आपके हार्ट की बीमारियों के खतरे को कम कर सकता है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source