September 25, 2022

Robin Uthappa: पच्चीस की उम्र में बदला धर्म, बनाए 9 हजार से ज्यादा रन, पढ़े रॉबिन उथप्पा से जुड़ी दिलचस्प बातें

wp-header-logo-358.png

दाएं हाथ के विस्फोटक बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा ने (Robin Uthappa) इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। उन्होंने सभी फॉर्मेट और भारतीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया (Robin Uthappa retirement ) है। इंटरनेशनल करियर की बात करें तो उथप्पा ज्यादा सफल नहीं रहे। लेकिन आईपीएल में वह खूब चमके थे। बता दें कि टीम इंडिया ने जब टी20 वर्ल्ड कप का पहला यानी 2007 सीजन जीता (2007 T20 World Cup ) था, तब उथप्पा टीम के स्टार ओपनर रहे थे। तब टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे। उथप्पा ने आखिरी मैच आईपीएल में धोनी की कप्तानी में ही चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेला(IPL for Chennai Super Kings)। आइए अब जानते हैं उथप्पा की जिंदगी की पांच बड़ी बातों के बारे में…
1. रॉबिन उथप्पा (Robin Uthappa) के पिता का नाम वेणु उथप्पा है और वह एक अंतरराष्ट्रीय हॉकी रेफरी रह चुके हैं। वह कर्नाटक हॉकी एसोसिएशन के अध्यक्ष भी थे। हॉकी के लिए अपने पिता के प्यार के बावजूद, उथप्पा ने कम उम्र में ही क्रिकेट को चुना और खेल में अपना नाम बनाया।
2. रॉबिन उथप्पा के पिता हिंदू और मां ईसाई(Hindu and mother is Christian) हैं। उथप्पा 25 साल की उम्र तक हिंदू बने रहे लेकिन 2011 में ईसाई धर्म अपना लिया। उथप्पा के साथ उनकी बहन ने भी ईसाई धर्म अपना लिया।
3. रॉबिन उथप्पा को 10 साल की उम्र में दौरे पड़ने लगे (seizures)थे। उपचार ने उनकी चयापचय दर में वृद्धि की थी। इस वजह से उन्हें अपना वजन बनाए रखने में काफी दिक्कत हुई। उनकी यह समस्या 20-25 साल तक चली लेकिन इसके बाद उन्होंने एक डायटिशियन की मदद से इस पर काबू पा लिया(help of a dietician)। उन्होंने 20 किलो वजन घटाया और खुद को फिट किया।
4. अपने करियर को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए, उथप्पा ने पूर्व भारतीय बल्लेबाज प्रवीण आमरे को अपना व्यक्तिगत बल्लेबाजी कोच नियुक्त किया। उथप्पा जहां भी खेलते थे, प्रवीण आमरे उनके साथ होते थे। आमरे की वजह से ही उथप्पा ने अपनी कई कमियों को दूर किया है।
5. साल 2013-14 उथप्पा के करियर का गोल्डन ईयर माना जाता है। इस साल उन्होंने कर्नाटक के लिए रणजी ट्रॉफी जीती। उथप्पा इस साल जीत से चूक गए और ईरानी ट्रॉफी भी जीती। इसके साथ ही उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए आईपीएल जीता(IPL for Kolkata Knight Riders)।
उथप्पा का ट्वीट
It has been my greatest honour to represent my country and my state, Karnataka. However, all good things must come to an end, and with a grateful heart, I have decided to retire from all forms of Indian cricket.

Thank you all ❤️ pic.twitter.com/GvWrIx2NRs
केरल के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला

इसके अलावा रॉबिन उथप्पा ने टीम इंडिया के लिए 46 वनडे और 13 टी20 मैच खेले हैं। टीम इंडिया की पहली टी20 वर्ल्ड कप जीत के हीरो रहे उथप्पा। उथप्पा ने कर्नाटक और केरल के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला और अपने बल्ले से 9000 से अधिक रन बनाए। उन्होंने लिस्ट ए में 6534 रन बनाए। टी20 में भी उनके बल्ले ने 7272 रन बनाए है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author