September 25, 2022

Knowledge News : चेहरा देखने के लिए नहीं बल्कि इस वजह से लगे होते हैं लिफ्ट में शीशे, जानें कारण

wp-header-logo-365.png

Mirror in Lift : आप लोगो में से बहुत से लोगों ने कभी न कभी ऊंची-ऊंची बिल्डिंगों में जाने के लिए लिफ्ट (Lift) का इस्तेमाल तो जरूर किया होगा। इसके अलावा मेट्रो की लिफ्ट या फिर ऑफिस की, या अपने घर की बिल्डिंग की में तो चढ़े ही होंगे। जब भी आप उसमे चढ़े होंगे तो आपने जरूर ध्यान दिया होगा कि उस लिफ्ट में शीशा लगा हुआ है। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि आखिर लिफ्ट में शीशा क्यों लगाया जाता है। अगर नहीं, तो चलिए आज हम आपको अपनी इस खबर में बताते हैं कि आखिर लिफ्ट में शीशा (Mirror in Lift) लगाने के पीछे क्या कारण है।
हैरान कर देने वाली है वजह
दरअसल शुरुआती दौर में लिफ्ट में शीशे नहीं लगे होते थे। इसलिए उस समय जो लोग इसका इस्तेमाल करते थे उन्हें लिफ्ट की रफ्तार काफी तेज महसूस होती थी। जिस वजह से उन्हें लिफ्ट में काफी असहज महसूस होता था। जब उन लोगों ने इसकी शिकायत की तो उनका कहना था कि लिफ्ट की स्पीड काम की जाए। हालांकि, आपको बता दे कि लिफ्ट की रफ्तार तेज नहीं होती थी। बल्कि उस समय लिफ्ट चलने के बाद उसमे मौजूदा लोगों का ध्यान सिर्फ लिफ्ट के ऊपर जाने और नीचे आने की स्पीड पर ही रहता था। इसलिए अक्सर लोगो को उसकी स्पीड तेज लगती थी और वो विचलित हो जाते थे।
शिकायत के बाद कंपनियों के डिजाइनर्स और इंजीनियरों ने इसका समाधान निकालते हुए लिफ्ट में शीशे लगाने शुरू कर दिए। ताकि लिफ्ट में आने के बाद उसमें चढ़ने वाले लोगों का पूरा का पूरा ध्यान सिर्फ शीशे पर ही केंद्रित हो जाए। इस तरीके से उन्हें लिफ्ट की स्पीड (Speed) तेज भी नहीं लगेगी और वो असहज भी महसूस नहीं करेंगे। लिफ्ट में शीशा लगाने के बाद अच्छी बात ये रही की डिजाइनर्स और इंजीनियरों का ये आईडिया सफल भी साबित हुआ।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author