October 3, 2022

Asad Rauf Passes Away: पाक अंपायर असद रऊफ का निधन, 2013 में मैच फिक्सिंग के आरोप में BCCI ने किया था बैन

wp-header-logo-357.png

क्रिकेट की जगत से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। पाकिस्तान के अंपायर (Pakistan umpire)असद रऊफ जो आईसीसी के एलीट पैनल का हिस्सा थे(ICC’s elite panel)। उनका बुधवार (14 सितंबर) को लाहौर में निधन हो गया(Asad Rauf’s death)। बता दें कि 66 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया। असद रऊफ की मौत की खबर की पुष्टि उनके भाई ताहिर ने की है। उन्होंने कहा, ‘मौत से पहले असद रऊफ को जूते की दुकान बंद करके घर जाते समय सड़क पर दिल का दौरा पड़ा था। ताहिर(Tahir)ने कहा कि उनकी इसी वजह से मौत हुई। रऊफ की आकस्मिक मौत से क्रिकेट जगत शोक में डूब गया है।
असद रऊफ (Asad Rauf) जूते की दुकान के मालिक हैं। लेकिन बुधवार को दुकान बंद कर घर जाते समय अचानक उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई। असद रऊफ के निधन से खेल जगत शोक में डूब गया है। रऊफ को क्रिकेट फैन्स सोशल मीडिया के जरिए श्रद्धांजलि दे रहे (condolences)हैं। कई लोग उनके परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त कर रहे हैं।
पांच साल के लिए क्रिकेट से बैन
रऊफ ने 231 अंतरराष्ट्रीय मैचों में अंपायरिंग की थी। जिसमें 64 टेस्ट, 28 T20I और 139 ODI शामिल हैं। उन्होंने 2013 में सभी प्रकार के अंपायरिंग से संन्यास ले लिया। इसके अलावा रऊफ 2006 से 2013 तक आईसीसी के एलीट अंपायर पैनल के सदस्य थे। 2013 में रऊफ को बीसीसीआई द्वारा गठित एक जांच समिति द्वारा मैच फिक्सिंग का दोषी पाया गया था। उन्हें 2013 में एक आईपीएल मैच में मैच फिक्सिंग (match-fixing) का दोषी पाया गया था। जिसके बाद उन्हें 2016 में बीसीसीआई द्वारा 5 साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था(BCCI in 2016)।
लाहौर में एक जूते की दुकान
मैच फिक्सिंग के आरोपों में फंसने के बाद रऊफ को अपने जूते (match-fixing allegations) बेचने का समय आ गया था। लाहौर में उनकी जूते की दुकान थी। रऊफ जो अक्सर कहता था कि उसने अपने कर्मचारियों के लिए दुकान शुरू की। अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रहता था। रऊफ का एक बेटा विकलांग है। तो दूसरा बेटा अभी अमेरिका में पढ़ रहा है । रऊफ के निधन के बाद कई लोगों ने उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त कर रहे (family)है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author