November 28, 2022

T20 WC Semi-Finals में भारत के शर्मनाक प्रदर्शन के बाद अनिल कुंबले का सुझाव, बताया कैसे बनेगी टीम इंडिया चैंपियन

wp-header-logo-249.png

ऑस्ट्रेलिया में हुए टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) में टीम इंडिया का जीत से शुरू हुआ सफर सेमीफाइनल में मिली हार के साथ समाप्त हो गया। टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के सेमीफाइनल मुकाबले में भारतीय टीम की शर्मनाक हार के बाद बीसीसीआई (BCCI) को कई तरह के सुझाव दिए गए। इस कड़ी में टीम के पूर्व कप्तान और कोच अनिल कुंबले का मानना है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (international cricket) में भारत को आगे बढ़ने के लिए सीमित ओवरों और टेस्ट प्रारूप की टीम पूरी तरह से अलग होनी चाहिए।
इंग्लैंड के बल्लेबाजी क्रम पर कुंबले ने कहा
कुंबले का मानना है कि वनडे और टी20 फॉर्मेट के लिए अलग और टेस्ट फॉर्मेट के लिए अलग भारतीय टीम तैयार करनी चाहिए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अनिल कुंबले (Anil Kumble) ने एक इंटरव्यू में कहा है कि निश्चित तौर पर वनडे और टी20 (ODIs and T20s) में इंग्लैंड (England) ने जिस तरह सफलता हासिल की है, उसे देखते हुए अब व्हाइट बॉल क्रिकेट और रेड बॉल क्रिकेट के लिए अलग-अलग टीमों की जरूरत पड़ने लगी है। कुंबले ने कहा है कि आप इंग्लैंड के बल्लेबाजी क्रम पर गौर करेंगे तो पता चलेगा कि 7 और 8 नंबर तक बल्लेबाजी करने वाले खिलाड़ी टीम में मौजूद हैं। इंग्लैंड (England) ने ही यह दिखाया है कि अब अलग-अलग फॉर्मेट के लिए अलग टीम और अलग कोच होना चाहिए।
पूर्व भारतीय कोच ने आगे कहा
साथ ही पूर्व कप्तान ने कहा, इंग्लैंड के लिए आज लियम लिविंगस्टन (Liam Livingston) सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आता है। किसी भी दूसरी टीम के पास नंबर सात पर लिविंगस्टन जैसा बल्लेबाज नहीं है। ऑस्ट्रेलिया के लिए मार्कस स्टोइनिस (Marcus Stoinis) छठे नंबर पर बल्लेबाजी करता है। आपको इस तरह की टीम तैयार करनी होगी। पूर्व भारतीय कोच ने आगे कहा, मैं वास्तव में इसको लेकर सुनिश्चित नहीं हूं कि आपको अलग कप्तान या अलग कोच चाहिए। यह सब कुछ इस पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की टीम का चयन करने जा रहे हैं। इसके बाद तय करें कि आपको कैसा सहयोगी स्टाफ (support staff) और कप्तान चाहिए।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author