November 28, 2022

Birthday Special : 41 बरस के हुए गौतम गंभीर, यहां क्लिक कर पढ़िए क्रिकेटर से जुड़े कई बड़े रिकॉर्ड

wp-header-logo-189.png

खेल: किसी को जुबानी जंग (verbal battle) में मात देनी हो, किसी को बल्ले से जवाब देना हो या फिर मैदान पर आक्रामक नजर आना हो, ये सभी काम गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) के लिए बाएं हाथ का खेल रहा है। जी हां, बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने देश के लिए लंबे समय तक क्रिकेट खेली और अब क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद वे नई दिल्ली (East Delhi seat) से लोकसभा चुनाव जीतकर संसद भवन (Parliament House) तक पहुंच गए हैं। आज गौतम गंभीर का 41वां जन्मदिन है और इस मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं कि गौतम गंभीर ने (Gautam Gambhir) अपने क्रिकेटर करियर में क्या कुछ हासिल किया है…
1981 में दिल्ली में जन्में गंभीर ने महज 10 साल की उम्र से ही क्रिकेट खेलना (playing cricket) शुरु कर दिया था। वहीं 22 साल की उम्र में उन्होंने भारतीय टीम के लिए डेब्यू किया। साथ ही 2003 में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे क्रिकेट तो 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत की थी।
भारतीय टीम के लिए कई बार संकटमोचन बनने है गौतम गंभीर
बता दें की गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) भारतीय क्रिकेट के उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से हैं जिन्होंने भारतीय टीम के लिए कई यादगार पारियां (memorable innings) खेलते हुए कई सारे रिकॉर्ड्स अपने नाम किए। इसके साथ ही कई बार वह भारतीय टीम के संकटमोचन के रूप में नजर आए। उन्होंने अपने बल्ले से ऐसे कई कारनामें किए जिसका मुकाबला भारतीय क्रिकेट में कोई दूसरा नहीं कर पाया। बताते चले की गौतम गंभीर भारत और चार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर्स में से एक हैं, जिन्होंने लगातार पांच टेस्ट मुकाबलों में सेंचुरी बनाई। चार टेस्ट सीरीज में 300 से ज्यादा रन बनाने वाले गंभीर एकमात्र भारतीय बल्लेबाज (Indian batsman) हैं।
इसके अलावा उन्होंने 2011 के वर्ल्डकप फाइनल (2011 World Cup final) में भी श्रीलंका के खिलाफ सबसे बड़ी पारी खेली और 97 रनों की शानदार पारी खेलते हुए भारत को वर्ल्डकप दिलाया। साथ ही गंभीर ने अपने क्रिकेट करियर में 58 टेस्ट मुकाबलों में 4,154 रन, 147 वनडे मुकाबलों में 5,238 रन और 37 टी20 मैचों में 932 रन बनाए।
एक बार गंभीर ने भारतीय टीम की अगुवाई भी थी
2010 में गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) को भारतीय टीम का कप्तान नियुक्त किया गया। उस समय भारत और न्यूजीलैंड के बीच वनडे सीरीज खेली गई थी। जिसकी मेजबानी भारत ने खुद की थी। इस सीरीज के तीसरे मैच में गंभीर ने नाबाद 126 रनों की पारी खेली थी। आखिरकार भारत ने न्यूजीलैंड को 5-0 से हरा कर सीरीज जीती (NZ 5-0)। जिसके बाद गंभीर को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ से नवाजा भी गया था ।
इस दिन लिया था सन्यास
मालूम हो की गौतम गंभीर ने (Gautam Gambhir retired) 6 दिसंबर 2018 को रणजी ट्रॉफी में आंध्र क्रिकेट टीम के खिलाफ दिल्ली क्रिकेट टीम के लिए अपने अंतिम मैच से पहले 3 दिसंबर 2018 को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया था। इसके बाद क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद गौतम गंभीर ने एक सांसद (Lok Sabha MP) के रूप में अपनी नई पारी की शुरुआत की, और 17 जून 2019 को उन्होंने लोकसभा सांसद के रूप में शपथ ली। इसके अलावा गौतम गंभीर इस साल आईपीएल( IPL) की लखनऊ फ़्रेंचाइज़ के लिए टीम मेंटर के रूप में कार्यरत है।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author