August 9, 2022

राजेन्द्र राठौड़ पर आग बबूला हुए किरोड़ी मीणा, आदिवासी नेताओं को रोकने पर उपजा विवाद

wp-header-logo-213.png

जयपुर। एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रोपदी मुर्मू के लिए जयपुर में आयोजित कार्यक्रम में भाजपा सांसद किरोड़ी लाल मीना और उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ भिड़ गए। दोनों नेताओं के बीच जमकर तू-तू मैं-मैं हुई। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के बीच बचाव करने पर मामला शांत हुआ। बीजेपी के राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा ने आदिवासी जिलों के कुछ नेताओं और कार्यकर्ताओं को कार्यक्रम में एंट्री नहीं देने पर उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ को जमकर खरी-खोटी सुनाई। जवाब में राठौड़ ने भी किरोड़ी को लहजा सुधारने की नसीहत दी।
पार्टी कार्यकर्ताओं ने किरोड़ी से मांगी मदद
इस बीच सांसद किरोड़ी लाल मीणा होटल क्लार्क आमेर पहुंचे। प्रवेश करने से रोके गए लोगों ने राज्यसभा सांसद मीणा को अपनी बात बताई। सांसद मीणा मीणा को व्यवस्था में लगे लोगों ने बैठक में सूची के अनुसार ही प्रवेश देने की बात कही। इस पर मीणा आक्रोशित हो गए और सब लोगों को साथ लेकर अंदर होटल में घुस गए। इस दौरान जनजातीय समाज के लोग नारेबाजी करते हुए मीणा के साथ होटल कि तलघर में बने सभागार में पहुंच गए।
राजेन्द्र राठौर पर क्यूं चिल्लाए किरोड़ीलाल मीणा? @Rajendra4BJP @DrKirodilalBJP pic.twitter.com/3LcmKa3wNc
— Qamar (@QamarAnchor) July 13, 2022

पहले एयरपोर्ट, फिर होटल में सुनाई खरी-खोटी
विवाद की शुरुआत एयरपोर्ट पर ही हो गई थी। किरोड़ीलाल मीणा के साथ आए आदिवासी नेताओं को पास नहीं होने का हवाला देकर कार्यक्रम में एंट्री नहीं देने की बात कही तो किरोड़ी भड़क गए। एयरपोर्ट पर ही बीजेपी के कुछ नेताओं को खरी खोटी सुनाई और यहां तक कह दिया कि चाटुकारों की भीड़ इकट्ठा कर रखी है। सैकड़ों किलोमीटर से चलकर आने वालों से पास पूछ रहे हैं।
किरोड़ी बोले- राठौड़ से मतभेद नहीं
इस घटना के बाद सांसद किरोड़ीलाल मीणा ने ट्वीट कर सफाई दी कि आदिवासी कार्यकर्ताओं को रोकने पर गुस्सा स्वाभाविक था, राजेंद्र राठौड़ से मतभेद नहीं है। किरोड़ी ने लिखा- एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार श्रीमती द्रौपदी मुर्मूजी के अभिनंदन के लिए डूंगरपुर-बांसवाड़ा व अन्य सुदूर इलाकों से जयपुर आए आदिवासी कार्यकर्ताओं को कार्यक्रम में प्रवेश नहीं मिला तो मेरे जैसे भावुक व्यक्ति को गुस्सा आना स्वाभाविक था।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author